23/09/2022
देश

कई स्थानों पर तो वर्षों से वहां रह रहे स्थाई निवासियों के नाम भी नई सूची से गायब,सरकार एवं प्रशासन पर आरोप लगाया की मतदाता सूचियों में की गई गड़बड़ी:राजेंद्र जार

हमीरपुर /

 

जिला कांग्रेस कमेटी हमीरपुर के अध्यक्ष राजेंद्र जार ने सरकार एवं प्रशासन पर आरोप लगाया है कि वर्तमान पंचायत एवं नगर निकाय चुनावों के लिए तैयार मतदाता सूचियां में पूरे प्रदेश और खास तौर पर जिला हमीरपुर में भी बड़ी गड़बड़ी सामने आ रही है। कई स्थानों पर तो वर्षों से वहां रह रहे स्थाई निवासियों के नाम भी नई सूची से गायब हैं। जबकि वर्षों से लगातार मतदाताओं मैं उनका नाम अंकित चला आ रहा है। इसके विपरीत वहां रह रहे प्रवासियों के नामों को बढ़ाकर मतदाता सूची में शामिल किया गया है। कांग्रेस पार्टी का सरकार व सत्ता पक्ष के हाथों की कठपुतली बना प्रशासन इस सारी हेराफेरी का दोषी है । जिला प्रशासन कितना पंगु बनकर सत्ता पक्ष के इशारों पर कार्य कर रहा है कि कई नागरिकों द्वारा मतदाता सूची में अनाधिकृत नामों को जोड़ने और सही मतदाताओं के नाम काटने की शिकायत की गई थी परंतु उस पर कोई कार्यवाही समय रहते अमल में ना लाकर प्रशासन ने उसे ठंडे बस्ते में डाल कई नागरिकों के मौलिक अधिकार से खिलवाड़ किया है। ऐसे कई उदाहरण हैं की पंचायती राज्य के विभिन्न पदों के लिए चुनाव लड़ने के लिए नामांकन भरने गए व्यक्तियों के नाम सूची से गायब थे और प्रदेश में कुछ स्थानों पर तो पूरी पंचायत निर्विरोध चुनी गई परंतु प्रधान के लिए चयनित व्यक्ति का नाम ही मतदाता सूची से गायब पाया गया। पिछली सरकारों में भी इस तरह की इक्की दुक्की त्रुटियां सामने आती रही हैं। परंतु उनका समय रहते प्रशासन द्वारा निदान कर दिया जाता रहा था। परंतु इस सरकार के समय इस तरह की शिकायतों की सीमा ही पार हो गई है। हमीरपुर नगर परिषद वार्ड नंबर 7 व अन्य क्षेत्रों का इस तरह की वोटों की हेरा फेरी की शिकायतें जिलाधीश के पास लंबित पड़ी हैं।

जिला अध्यक्ष ने कहा प्रशासन का इस तरह का व्यवहार कांग्रेस पार्टी को इस बात पर सोचने के लिए मजबूर कर देता है कि प्रशासन कहीं ना कहीं सत्ता पक्ष भाजपा के लोगों के दबाव में है । यह प्रशासन के अधिकार क्षेत्र में आता है कि इस समय भी इन लंबित शिकायतों पर जांच कर इनका हल निकाल कर संबंधित लोगों के लोकतांत्रिक हक को बहाल किया जाए ।

जिलाध्यक्ष राजेंद्र जार ने कहा कि भाजपा ना समझे कि कांग्रेस पार्टी को सत्ता पक्ष की इन ओछी बातों से कोई फर्क पड़ने वाला है। आज प्रदेश सरकार के कुशासन, हर क्षेत्र में विफलता और जनविरोधी नीतियों के कारण इन्हें प्रदेश की जनता दुत्कार चुकी है और अब अपने सुनहरे भविष्य के लिए कांग्रेस को फिर से सत्ता में लाने के लिए प्रयत्नशील है। इन पंचायत एवं नगर निकाय चुनावों के नतीजे कांग्रेस समर्थित उम्मीदवारों के पक्ष में देकर वे भाजपा सरकार की उल्टी गिनती आरंभ कर देंगे।

 

Related posts

ये ज्यादा घातक नहीं : भारत में नए Covid वेरिएंट BA.2.75 को लेकर रहस्य बरकरार

Such Tak

उपराष्ट्रपति पद की उम्मीदवार मार्गरेट अल्वा ने दाखिल किया नामांकन

Such Tak

कैबिनेट विस्तार पर बीजेपी और शिंदे गुट में ऐसे बनी सहमति, जानें किसके के खाते में कौन-कौन से विभाग

Such Tak