23/09/2022
देश राजनीति

जेएनयू की वाइस चांसलर क्या बोलीं रामनवमी के दिन हुई हिंसा पर

रामनवमी के दिन, 10 अप्रैल को नॉनवेज खाने को लेकर हुई हिंसा को ‘दुर्भाग्यपूर्ण’ करार देते हुए जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) की वाइस चांसलर शांतिश्री धुलीपुडी पंडित ने कहा है कि कैंपस में सब अपनी पसंद का खाने और पहनने को आज़ाद हैं.

जेएनयू वीसी ने कहा, “विश्वविद्यालय को किसी के खाने पर कोई आपत्ति नहीं है और हर किसी के पास ये आज़ादी है कि वो अपनी पसंद का खाए और अपनी मर्ज़ी के कपड़े पहने.”

जेएनयू वीसी ने ये भी कहा कि विश्वविद्यालय कोई कुश्ती का अखाड़ा या राजनीति का मैदान नहीं है. उन्होंने कहा, “अगर आपको ये करना है तो जाइए चुनाव लड़िए. जेएनयू आपके राजनीतिक करियर में मदद नहीं देगा.”

हिंसा की निंदा करते हुए वाइस चांसलर पंडित ने छात्रों से कहा, “जेएनयू सरस्वती की जगह है. कृपया यहां पढ़िए, शैक्षणिक स्तर पर बहस कीजिए और लड़िए. ये राजनीति का मैदान नहीं है.”

उन्होंने कहा, “हम अब भी सर्वश्रेष्ठ यूनिवर्सिटी हैं और जेएनयू से निकले 95 फ़ीसदी छात्र देश की सेवा कर रहे हैं. विदेश मंत्री, वित्त मंत्री और बहुत सारे आईएएस अधिकारी जेएनयू से ही निकले हैं. आज मैं जो हूं वो इस यूनिवर्सिटी ने बनाया है.”

जेएनयू में रामनवमी के दिन हुई हिंसा पर केंद्र सरकार ने मांगी रिपोर्ट

जेएनयू में रामनवमी की पूजा और मांसाहार पर झड़प, एफ़आईआर दर्ज

Related posts

राजस्थान: कांस्टेबल भर्ती परीक्षा का पेपर लीक, एक गलती की वजह से दोबारा होगी परीक्षा

Such Tak

यह महंगाई मार डालेगी :18 रुपए किलो का आटा 35 पार, तेल ढाई गुना महंगा

Such Tak

सिद्धू को मिली जेल : सुनील का खिला कमल

Such Tak