06/10/2022
देश

हिजाब विवाद : कर्नाटक में बिगड़ रहे हालत, कॉलेजों में हिंसक प्रदर्शन

हिजाब विवाद : कर्नाटक में बिगड़ रहे हालत, कॉलेजों में हिंसक प्रदर्शन

कर्नाटक में हिजाब विवाद बढ़ता जा रहा है। मुद्दे के पक्ष-विपक्ष में छात्र सड़क पर उतर आए हैं। शिवमोग्गा में धारा 144 लगा दी गयी है। उपद्रव कर रहे छात्रों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने हल्का बल प्रयोग किया है।

बैंगलोर

बेंगलूरु. कर्नाटक में हिजाब (Hijab Controvery in Karnataka Takes Ugly Turn) को लेकर चल रहा विवाद मंगलवार को कई अन्य जिलों में फैल गया। राज्य के विभिन्न हिस्सों में कानून-व्यवस्था की स्थिति खराब हो गई और कुछ जगहों से हिंसक प्रदर्शन हुए। कई जगह पुलिस को हालात संभालने के लिए बल प्रयोग करना पड़ा।

पथराव के बाद लाठीचार्ज
शिवमोग्गा के सरकारी पीयू कॉलेज में हिजाब के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान पथराव और लाठीचार्ज (stone pelting and lathi charge) के बाद जिला प्रशासन ने शहर में बुधवार तक धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लगा दी। मंगलवार सुबह काफी संख्या में भगवा शॉल (saffron shawl) के साथ कॉलेज पहुंचे विद्यार्थियों ने प्रदर्शन किया। इस दौरान एक छात्र ने ध्वज स्तंभ पर भगवा ध्वज फहरा दिया। हालांकि, स्थानीय लोगों का कहना है कि वहां पहले से कोई ध्वज नहीं लगा था। इसी दौरान नारेबाजी के बीच पथराव भी हुआ।

पथराव में कुछ छात्रों को मामूली चोटें आई हैं। यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि छात्रों पर पथराव किसने किया। छात्रों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को लाठियां भांजनी पड़ी। पुलिस अधीक्षक बी.एम. लक्ष्मी प्रसाद और जिलाधिकारी सेल्वामणि आर. ने परिसर का दौरा किया। सेल्वामणि ने बताया कि पथराव की कुछ घटनाओं के बाद शहर में धारा 144 लगाई गई है। बाद में विद्यार्थियों के एक समूह ने जिलाधिकारी कार्यालय के सामने भी प्रदर्शन किया। जिले के शिकारीपुर में इस मसले को लेकर सरकारी पीयू कॉलेज के सामने प्रदर्शन के दौरान कुछ शरारती तत्वों ने एक निजी बस पर पथराव कर दिया। पुलिस ने प्रदर्शनकारी विद्यार्थियों को तितर-बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया, इसी दौरान पथराव की घटना हुई।

Related posts

बार्सिलोना के साथ ही बने रहेंगे लियोनल मेसी, क्लब की शर्तों ने बाहर निकलना बनाया ‘असंभव’

Web1Tech Team

महाराष्ट्र में चला सियासी खेल नैतिक और राजनीतिक से कहीं ज्यादा वैचारिक है

Such Tak

जहांगीरपुरी: सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर, दिल्ली पुलिस की कार्रवाई पर सवाल

Such Tak