08/02/2023
अपराध देश

नुपूर शर्मा को सुप्रीम कोर्ट की फटकार, कहा- आपके बयान के चलते हुई उदयपुर जैसी घटना, पूरे देश से टीवी पर मांगे माफी

पैगंबर पर टिप्पणी मामले में बीजेपी से निलंबित नूपुर शर्मा को सुप्रीम कोर्ट ने कड़ी फटकार लगाई है। इतना ही नहीं देश के सर्वोच्च न्यायालय ने नुपूर शर्मा को पूरे देश के सामने माफी मांगने के लिए भी कहा है। खास बात यह है कि शीर्ष अदालत ने दिल्ली पुलिस को भी इस मामले में खूब सुनाया है।

पैगंबर पर टिप्पणी कर फंसी बीजेपी से सस्पेंड नुपूर शर्मा को लेकर शुक्रवार को बड़ी खबर सामने आई है। दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने नुपूर शर्मा को उनके बयान पर कड़ी फटकार लगाई है। कोर्ट ने नुपूर के बयानों को भड़काने वाला बताया और पूरे देश से माफी मांगने को कहा है। देश के सर्वोच्च न्यायालय ने अपनी टिप्पणी में कहा कि, उदयपुर की घटना उन्हीं के इस तरह के बयानों की वजह से हुई है। बता दें कि नुपूर शर्मा की ओर से पैगम्बर मोहम्मद को लेकर की गई टिप्पणी पर सुप्रीम कोर्ट ने नाराजगी जाहिर की है। दरअसल शर्मा की ट्रांसफर अर्जी पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि उनकी टिप्पणी ने देश भर में लोगो की भावनाओं को भड़का दिया है।
नुपूर शर्मा को सुप्रीम फटकार
सुप्रीम कोर्ट ने नुपूर शर्मा को कहा कि, आपने गैर जिम्मेदाराना बयान दिया है। शीर्ष अदालत ने कहा कि आप अपने आप को वकील कहती हैं, फिर भी ऐसा बयान दिया। कोर्ट ने कहा कि आपके बयान से देश का माहौल बिगड़ा है।
सर्वोच्च न्यायालय ने कहा कि, मौजूदा समय में देश में जो कुछ हो रहा इसके लिए आप जिम्मेदार हैं। कोर्ट ने कहा कि हमने डिबेट को देखा है, उसको भड़काने की कोशिश की, लेकिन उसके बाद उन्होंने जो कुछ कहा, वो और ज्यादा शर्मनाक है।
उदयपुर की घटना के लिए बताया जिम्मेदार
उदयपुर में हुई दर्जी कन्हैया लाल की हत्या को लेकर भी सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि उन्होंने और उनकी हल्की जबान ने पूरे देश में आग लगा दी है। उनका ये गुस्सा इसी वजह से था। वो उदयपुर में हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना के लिए जिम्मेदार हैं।

क्षमा याचिका पर क्या बोला सुप्रीम कोर्ट?
नुपूर शर्मा के वकील ने जब उनकी क्षमायाचना और पैगंबर पर की गई टिप्पणियों को विनम्रता के साथ वापस लेने की दुहाई दी तो पीठ ने कहा कि वापस लेने में बहुत देर हो चुकी थी।

दिल्ली पुलिस को भी लताड़
सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में दिल्ली पुलिस को भी आड़े हाथों लिया। शीर्ष अदालत ने कहा कि, अगर नूपुर के खिलाफ़ पहली FIR दिल्ली में दर्ज हुई थी, तो उस पर क्या कार्रवाई हुई?

ये है पूरा मामला
बता दें कि नूपुर शर्मा बीजेपी की प्रवक्ता रही हैं। उन्होंने हाल ही में एक टीवी डिबेट में पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ टिप्पणी की थी। उनकी इस टिप्पणी का काफी विरोध हुआ। देश ही नहीं विदेश तक इस बयान की आंच पहुंची और अरब देशों जैसे कुवैत, यूएई, कतर समेत तमाम मुस्लिम देशों ने उनके बयान की आलोचना की थी।
इसके बाद बीजेपी ने नूपुर शर्मा को पार्टी से निलंबित कर दिया था। उनकी टिप्पणी पर देश के कई हिस्सों में प्रदर्शन हुआ था। यही नहीं महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में उनके खिलाफ मामले भी दर्ज कराए गए हैं। जबकि शर्मा ने सभी मामलों को दिल्ली ट्रांसफर करने की मांग की है।

Related posts

शिक्षानगरी कोटा: चाय की थडियों और किराने की दुकानों पर बिक रहा, हॉस्टल तक सप्लाई हो रहा है नशा, छात्र बन रहे ड्रग एडिक्ट

Such Tak

RBI ने रेपो रेट 0.25% बढ़ाकर 6.5 प्रतिशत की, वृद्धि दर 7% रहने का अनुमान जताया, EMI होगी महंगी

Such Tak

फिजिकल रिलेशन की डिमांड करने वाला प्रोफेसर सस्पेंड, मामले में SIT करेगी जांच: 3 घंटे यूनिवर्सिटी में हंगामा, मेन गेट तोड़कर अंदर घुसे, नहीं रोक पाई पुलिस

Such Tak