05/02/2023
देश

Debt trap: कर्ज के जाल में फंसे हैं तो अपनाए यह उपाय, होगा फायदा

महंगाई ने आम आदमी की कमर तोड़ कर रख दी है। इसके बाद क्रेडिट कार्ड के बिल, कार, होम लोन की मासिक किस्त अदा करना अब बड़ा बोझ बन गया है। धीरे-धीरे लोग कर्ज के जाल में फंसते चले जा रहे हैं। इस मुसिबत से बचने के लिए कुछ खास उपाय आपके लिए फायदेमंद हो सकते हैं। कर्ज के जाल में फंसने की स्थिति में आप गोल्ड लोन का सहारा ले सकते हैं। अगर आपके ऊपर ऊंची ब्याज दर वाला कोई लोन है तो इससे मिलने वाली राशि से पहले उसे चुका सकते हैं। सोने के आभूषणों के बदले कर्ज ले सकते हैं। यह आपकी संपत्ति के इस्तेमाल का सबसे बेहतर विकल्प है। इस तरह के कर्ज पर करीब 8 से 15 फीसदी सालाना का ब्याज देना होता है।

बैंक कर्मचारियों के साथ चर्चा करके
आप बैंक कर्मचारियों के साथ चर्चा करके उन्हें अपनी मौजूदा हालात के बारे में बताकर इस समस्या का हल निकाल सकते है। बैंक हो सकता है कर्ज चुकाने के लिए आपको अतिरिक्त समय दे सकता है। इससे आप ईएमआई का दबाव कम कर सकते है। इसके साथ ही अधिक समय मिलने से आप कमाई के लिए और विकल्प की खोज सकेंगे।
महंगे लोन पहले चुकाए
अपने लोन व बिलों के चुकाने की पहले रणनीति बनाएं। अपने सभी बकाया कर्जों की एक सूची बनाएं। फिर यह तय करें कि आप सबसे पहले कौन सा कर्ज खत्म करना चाहते हैं। सभी लोन को इसी तरह प्राथमिकता के आधार पर बांटें। आपकी रणनीति यह होनी चाहिए कि सबसे महंगे कर्ज का भुगतान सबसे पहले हो। जैसे क्रेडिट कार्ड के भुगतान, क्योंकि इन पर आमतौर पर सालाना 40 फीसदी तक ब्याज देना पड़ता है।
बचत और प्रोपर्टी की मदद लें
कर्ज के जाल में फंसने के बाद आपकी सिबिल रिपोर्ट खराब हो चुकी होती है। इसलिए आपको नया कर्ज मिलना बेहद मुश्किल हो जाता है।
ऐसे में संपत्ति हमेशा वित्तीय संकट से निपटने में मदद करती है। आप अपनी बचत का इस्तेमाल भी कर्ज चुकाने के लिए कर सकते हैं। वहीं, प्रोपर्टी को बेचकर बड़े लोन चुका सकते हैं।

Related posts

जिस जगह पिछले साल बाढ़ आई थी, इस साल वहीं तीर्थयात्रियों के टेंट लगवाए : अमरनाथ यात्रा

Such Tak

कोरोना की तीसरी लहर डरावनी रही, घातक नहीं:ओमिक्रॉन के खतरे के बीच पहली लहर से ज्यादा पॉजिटिव हुए, 49 दिन में 537 ने दम तोड़ा

Such Tak

‘बुलडोजर राज’ या संविधान के बीच चुनाव किया जाना है – विपक्ष के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा का बयान

Such Tak