06/10/2022
देश राजनीति

अमित शाह से मिले, PM मोदी से भी करेंगे मुलाकात,महाराष्ट्र CM शिंदे ,फडणवीस दिल्ली में कोविंद

अपनी सरकार का बहुमत साबित करने के लिए फ्लोर टेस्ट पास करने के कुछ दिनों बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने दिल्ली में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की.

महाराष्ट्र के दोनों नेताओं ने शुक्रवार रात गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी. अमित शाह के साथ डेढ़ घंटे तक चली मीटिंग में फडणवीस और शिंदे ने महाराष्ट्र के राजनीतिक घटनाक्रम पर केंद्रित चर्चा की थी.

रिपोर्ट्स के मुताबिक फडणवीस और शिंदे शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात करेंगे.

शाह ने शुक्रवार रात को ट्विटर पर लिखा, ‘मुझे विश्वास है कि नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में आप दोनों विश्वासपूर्वक लोगों की सेवा करेंगे और महाराष्ट्र को विकास की नयी ऊंचाइयों तक ले जाएंगे.’

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री शुक्रवार देर शाम को दिल्ली पहुंचे थे. राष्ट्रीय राजधानी पहुंचने के तुरंत बाद, दोनों नेता महाराष्ट्र सदन के लिए रवाना हुए. जानकारी के मुताबिक फडणवीस और शिंदे ने पहले शाह के आवास पर पहुंच कर उनसे मुलाकात की थी.

शिंदे और फडणवीस ने 30 जून को पदभार ग्रहण किया था. उससे पहले तत्कालीन मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शिंदे के नेतृत्व में शिवसेना के विधायकों के विद्रोह के बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया था.

शिंदे और फडणवीस की यह दिल्ली यात्रा ऐसे समय हो रही है जब शिंदे और उनके गुट के 15 विधायकों को अयोग्य ठहराने की मांग संबंधी उद्धव ठाकरे की अगुवाई वाले शिवसेना धड़े की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में 11 जुलाई को अहम सुनवाई होने वाली है.

शिंदे ने दिल्ली में कहा, ‘हमें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है. उन्होंने कहा कि उनके धड़े को शिवसेना के दो तिहाई विधायकों का समर्थन प्राप्त है. शिंदे की बगावत से पहले शिवसेना के 55 विधायक थे.

मुख्यमंत्री ने नवनिर्वाचित विधानसभा अध्यक्ष राहुल नार्वेकर के निर्णय का उल्लेख करते हुए कहा, ‘विधानसभा अध्यक्ष ने हमें मान्यता भी दे दी.’

भाजपा के समर्थन से 30 जून को शिंदे को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई गई थी. उससे पहले उन्होंने ठाकरे के विरुद्ध बगावत की थी और ठाकरे की अगुवाई वाली सरकार गिरा दी थी। एकनाथ शिंदे सरकार ने चार जुलाई को विश्वास मत जीता था.

बारां- सतीश अरोड़ा के खिलाफ फर्जीवाड़ा कर पट्टा बनाने को लेकर मामला दर्ज

Related posts

अलवर में मंदिर ढहाने का विवाद, इनसाइड स्टोरी:जिस बोर्ड ने सहमति दी, उसमें 35 में 32 पार्षद BJP के

Such Tak

अपने पेट्स से इतना प्यार करते थे सुशांत, मौत से 1 दिन पहले देखभाल के लिए ट्रांसफर किया था फंड

Web1Tech Team

बिजली के हाईटेंशन तार की चपेट में आने से पांच महिला मज़दूर ज़िंदा जलीं : आंध्र प्रदेश

Such Tak