01/12/2022
देश राजनीति

मेधा पाटकर के भारत जोड़ो यात्रा में लने पर पीएम मोदी ने राहुल गांधी पर साधा निशाना

शनिवार को, महाराष्ट्र में भारत जोड़ो यात्रा में, राहुल गांधी कार्यकर्ता मेधा पाटकर से जुड़े थे, जिन्होंने बांध के पानी के कारण स्थानीय लोगों के विस्थापन और उन्हें मुआवजा दिलाने के लिए नर्मदा बचाओ आंदोलन का नेतृत्व किया था
.

राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा के दौरान कांग्रेस नेता एक ऐसी महिला के साथ चले, जिसने नर्मदा परियोजना को पटरी से उतारने की हर संभव कोशिश की.

गौरतलब है कि शनिवार को, महाराष्ट्र में भारत जोड़ो यात्रा में, राहुल गांधी कार्यकर्ता मेधा पाटकर से जुड़े थे, जिन्होंने बांध के पानी के कारण स्थानीय लोगों के विस्थापन और उन्हें मुआवजा दिलाने के लिए नर्मदा बचाओ आंदोलन का नेतृत्व किया था.

प्रधानमंत्री ने रविवार को गुजरात के धोराजी में एक रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी का नाम लिए बगैर कहा, ‘आपने कल अखबार में छपी एक तस्वीर देखी होगी जिसमें एक कांग्रेस नेता नर्मदा परियोजना का विरोध करने वालों के साथ खड़ा है.’

मोदी ने कहा, ‘आपको उनसे पूछना चाहिए कि वे किस मुंह से आपसे वोट मांगने आ रहे हैं. उन्होंने दशकों तक नर्मदा परियोजना को रोकने के लिए सब कुछ किया और यह सुनिश्चित किया कि विश्व बैंक सहित कोई भी पैसा गुजरात में न आ सके. वे लगातार गुजरात की प्रतिष्ठा को खराब कर रहे थे.’

उन्होंने कहा कि इस मामले को अदालत में ले जाया गया और इस आंदोलन की अगुवाई करने वाली महिला को कांग्रेस नेता के साथ देखा गया.

धोराजी की रैली में पीएम ने कहा, ‘इससे पता चलता है कि आप सिर्फ गुजरात को बर्बाद करने की ओर बढ़ रहे हैं.’

उन्होंने कहा, ‘जो लोग कच्छ क्षेत्र की एकमात्र जल जीवन रेखा को नष्ट करने की कोशिश करते हैं, वे कांग्रेस नेताओं के साथ देखे जाते हैं. इससे पता चलता है कि वे सिर्फ गुजरात को नष्ट करने की दिशा में काम कर रहे हैं. मतदाताओं और गुजरात को कांग्रेस नेतृत्व से पूछने की जरूरत है कि वे ऐसी ताकतों के साथ क्यों गठबंधन कर रहे हैं.’

बीजेपी के कई नेताओं ने कांग्रेस के इस कदम को गुजरात विरोधी करार दिया. बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर और पुरुषोत्तम रूपाला इससे पहले इसी मुद्दे को लेकर कांग्रेस पर निशाना साध चुके हैं.

लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल का सपना नर्मदा नदी पर बने सरदार सरोवर बांध, कंक्रीट ग्रेविटी बांध की आधारशिला भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू ने रखी थी. वर्षों की कानूनी बाधाओं के बाद, 2017 में प्रधानमंत्री मोदी द्वारा 1,210 मीटर लंबे बांध का उद्घाटन किया गया था.

गुजरात राज्य में 182 विधानसभा क्षेत्र हैं जिसके लिए 1 और 5 दिसंबर को दो चरणों में मतदान होगा. वोटों की गिनती 8 दिसंबर को होगी.

गुजरात जहां बीजेपी 27 सालों से सत्ता में है, अपने सातवें कार्यकाल की अपेक्षा कर रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2001 से 2014 तक गुजरात के सबसे लंबे समय तक मुख्यमंत्री रहे हैं.

राज्य लंबे समय से बीजेपी का गढ़ रहा है और पार्टी की नजर इस बार भी भारी बहुमत के साथ सत्ता में लौटने पर है.

हालांकि, इसे अरविंद केजरीवाल की अगुवाई वाली आम आदमी पार्टी (आप) से कड़ी चुनावी चुनौती का सामना करना पड़ रहा है, जिसने इसुदन गढ़वी को अपने मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में मैदान में उतारा है. कांग्रेस भी बीजेपी सरकार को सत्ता से बेदखल करने के लिए अपने कदम आगे बढ़ा रही है.

Related posts

PUNJAB: अमरिंदर सिंह राजा पंजाब पीसीसी के अध्यक्ष नियुक्त, बाजवा विधायक दल के नेता बने

Such Tak

करौली हिंसा की भाजपा ने की न्यायिक जांच की मांग

Such Tak

प्रभावित कर रहा है जलवायु परिवर्तन :दुनिया भर में तेजी से बदल रही मौसमी स्थितिया

Such Tak