06/10/2022
देश

चोट के चलते इस इंग्लिश खिलाड़ी ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास

नई दिल्ली। इंग्लैंड क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज ग्राहम ओनियंस ने शुक्रवार को अपने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया है। ओनियंस को इस साल की शुरुआत में बॉब विलिस ट्रॉफी के दौरान चोट लगी थी जिसके बाद से वह इतने समय से क्रिकेट से दूर चल रहे थे, आखिरकार अपनी बैक इंजरी से परेशान होकर उन्होंने अपने प्रोफेशनल क्रिकेट करियर का अंत करने का फैसला किया है। ओनियंस ने इस बारे में जानकारी देते हुए साफ किया कि डिकल की सलाह पर वो क्रिकेट से अलग होने को तैयार हैं। वह इंग्लैंड के लिये घरेलू क्रिकेट में लंकाशार की टीम के लिए खेलते थे। CPL 2020: सेमीफाइनल के लिये तय हो गई यह 4 टीमें, बाहर हुई मौजूदा चैम्पियन बारबाडोस उल्लेखनीय है कि ग्राहम ओनियंस ने इंग्लैंड के लिए साल 2009 से 2012 के बीच नौ टेस्ट मैचों में शिरकत की और इस दौरान उन्होंने 29.90 की औसत से 32 विकेट हासिल किये। उन्होंने इंग्लैंड के लिये 4 वनडे मैचे खेलकर 4 विकेट चटकाने का काम भी किया। इस दौरान जब वह एक बार टीम से बाहर हुए तो दोबारा वापसी नहीं कर सके। IPL 2020: 5 स्टार खिलाड़ी जो अब तक टूर्नामेंट से वापस ले चुके हैं नाम, नहींं आयेंगे नजर अब तक हासिल कर चुके हैं 874 विकेट उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ डेब्यू मैच में 5 विकेट चटकाए थे और लॉर्ड्स ऑनर्स बोर्ड में अपना नाम दर्ज करवाया। वहीं, 2009 की एशेज सीरीज में वह पांच में से तीन टेस्ट मैच में खेले थे। अपने 16 साल के करियर में ओनियंस ने हर फॉर्मैट में कुल मिलाकर 874 विकेट अपने नाम किए हैं। अपने संन्यास को लेकर जानें क्या बोले ग्राहम अपने संन्यास के बारे में ग्राहम ओनियंस ने कहा, ‘यह वह तरीका नहीं है, जिससे मैं खेल को छोड़ना चाहता था। लेकिन मुझे मेडिकल स्टाफ की बात सुननी होगी और इस बात को मानना होगा कि मैं अपने स्वास्थ्य और भविष्य की रक्षा के लिए ऐसा कर रहा हूं। मैंने पूरी तरह से सब कुछ दिया और मैं बिना किसी पछतावे के इसे पूरा कर सका। एशेज जीतने वाली इंग्लैंड टीम का हिस्सा बनने से लेकर डरहम के प्रथम श्रेणी विकेट लेने वाले प्रमुख गेंदबाज बनने तक, मैंने जितने सपने देखे था, उससे कहीं अधिक हासिल किया होगा। जब मैंने पहली बार शुरुआत की थी और इतने साल तक प्रथम श्रेणी के क्रिकेटर होने का सौभाग्य प्राप्त किया।’ फर्स्ट क्लास क्रिकेट में भी शानदार रहा है रिकॉर्ड फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उनका रिकॉर्ड काफी शानदार रहा है। डरहम की तरफ से खेलते हुए लॉर्ड्स में 2007 फ्रेंड्स प्रोविडेंट ट्रॉफी के फाइनल में जीत के साथ अपनी पहली बड़ी ट्रॉफी उठाई। डरहम के लिए खेलते हुए उन्होंने 527 विकेट झटके और इस टीम के सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बने। इसके बाद 2017 में वह लंकाशर में चले गए। लंकाशर के लिए खेलते हुए ओनियंस ने 23 मैचों में 104 विकेट झटके। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में ओनियंस ने 192 मैचों में 25.70 की औसत और 3.33 कि इकोनॉमी से 723 विकेट अपने नाम किए। वहीं, लिस्ट ए के 99 मैचों में उन्होंने 113 विकेट झटके हैं। ग्राहम ओनियंस ने 47 टी-20 मैच खेले और 38 विकेट अपने नाम किए।

I’m thinking I’m back you want a war or you want to just give me a gun everything’s got a price rusty, I guess. You stabbed price rusty, the Devil in the back how good to see you again.

Steve Jobs

 

Related posts

IPL 2022 : चहल के आगे धराशाई हुई KKR, IPL 2022 की पहली हैट्रिक

Such Tak

हैदराबाद में आज से शुरू हो रही BJP की कार्यकारिणी बैठक, प्रधानमंत्री मोदी कल होगें शामिल, जानिए क्या है बैठक का मुख्य एजेंडा

Such Tak

पायलट बोले- वसुंधरा को चैन से नहीं रहने दिया था , युवा केवल दरी बिछाने, नारे लगाने को नहीं, आगे लाना होगा

Such Tak