01/10/2022
देश धार्मिक

दिल्ली :सोनू ने कबूल किया जुर्म, कहा- कुशल चौक के पास गोली चलाई थी

दिल्ली के जहांगीरपुरी हिंसा मामले में गिरफ्तार किए गए आरोपी सोनू चिकना उर्फ ​​इमाम उर्फ ​​यूनुस ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। सोनू ने बताया कि हनुमान जयंती के दिन मैंने कुशल चौक के पास फायरिंग की थी। पुलिस ने सोनू के पास से एक पिस्टल भी बरामद की है। उसके खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। डीसीपी नॉर्थ वेस्ट ने इसकी जानकारी दी है।

इस बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पुलिस अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं। शाह ने कहा कि मामले में ऐसी कार्रवाई की जाए, ताकि फिर से इस तरह की घटना न हो और लोगों के लिए एक मिसाल बने। गृह मंत्री ने पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना को फोन कर कहा कि मामले में जो भी जरूरी कदम हों, वो उठाए जाएं।

दिल्ली पुलिस जहांगीरपुरी हिंसा मामले में वीडियो फुटेज के आधार पर आरोपियों की पहचान कर उन्हें गिरफ्तार कर रही है। 17 अप्रैल को सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें 28 साल का सोनू नीले कुर्ते में फायरिंग करता दिख रहा था। वीडियो के आधार पर पुलिस ने आरोपी की तलाश कर उसे दबोच लिया है। सोनू ने कबूल किया है कि 16 अप्रैल को उसने कुशल चौक के पास गोलियां चलाई थीं।

हिंसा के बाद इलाके में तनाव बना हुआ है। इसके चलते दिल्ली पुलिस ने अमन कमेटी के सदस्यों के साथ जहांगीरपुरी इलाके में शांति मार्च निकाला। पुलिस और अमन समिति ने लोगों से अपील की कि वे शांति और सद्भाव बनाए रखें।

वहीं, हिंसा मामले में पुलिस ने विश्व हिंदू परिषद (VHP) और बजरंग दल के सदस्यों पर भी केस दर्ज किया है। उन पर बिना परमिशन के शोभायात्रा निकालने का आरोप है। पुलिस ने VHP के जिला सेवा प्रमुख प्रेम शर्मा को भी गिरफ्तार किया है।

इधर, हनुमान जयंती दंगों के मुख्य आरोपी अंसार और असलम सहित 14 लोगों को दिल्ली के रोहिणी कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने असलम और अंसार की दो दिन की पुलिस रिमांड बढ़ा दी है। बाकी 12 आरोपियों को जुडिशियल कस्टडी में भेजा गया है। अब तक 23 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने दो नाबालिगों को भी हिरासत में लिया है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दंगाइयों पर कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। उन्होने दिल्ली पुलिस के अधिकारियों से बात की। इसमें अधिकारियों से कहा कि दंगा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई ऐसी की जाए जो मिसाल बने।

मामूली बहस से शुरू हुई हिंसा
जहांगीरपुरी में हनुमान जन्मोत्सव के जुलूस में हुई हिंसा के मामले में पुलिस ने FIR दर्ज की है। जामा मस्जिद के पास हुई मामूली बहस ने हिंसा का रूप ले लिया था। देखते ही देखते पथराव शुरू हो गया और शोभायात्रा में भगदड़ मच गई।

Related posts

फ्लोर टेस्ट से गायब क्यों रहे MVA के 11 MLAs, कारण जानकर Congress की उड़ी नींद : MAHARASTRA

Such Tak

पटियाला हिंसा का मास्टरमाइंड परवाना:पहले प्रदर्शन कराया; हिंसा हुई तो मुंह छुपा बाइक पर भागा; किसान आंदोलन में भी शामिल रहा

Such Tak

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022: कल शाम 6 बजे से थम जाएगा चौथे चरण का चुनाव प्रचार, जानें

Such Tak