08/02/2023
देश राजनीति

एकनाथ शिंदे होंगे महाराष्ट्र के अगले सीएम, देवेंद्र फडणवीस ने किया ऐलान

शिवसेना के वरिष्ठ नेता एकनाथ शिंदे आज शाम 7 बजे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले हैं. इसकी घोषणा बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीसने खुद की है. शिवसेना के बागी विधायक एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस ने इससे पहले राजभवन पहुंच कर राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की और सरकार बनाने का दावा पेश किया।

बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने एकनाथ शिंदे के साथ एक संयुक्त प्रेस वार्ता में घोषणा की कि एकनाथ शिंदे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री होंगे। उनका शपथ ग्रहण समारोह आज शाम 7.30 बजे होगा। इस दौरान उन्होंने कहा कि उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में महाविकास अघाड़ी सरकार (MVA) का गठन बालासाहेब का अपमान था।

उद्धव ठाकरे पर निशाना साधते हुए बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा “2019 में बीजेपी और शिवसेना ने साथ में चुनाव लड़ा था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में हमें पूर्ण बहुमत मिला। प्रधानमंत्री जी ने चुनाव के दौरान बीजेपी के मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा की और वो नाम सबको मंजूर भी था। लेकिन चुनाव के बाद शिवसेना के नेताओं ने निर्णय किया कि बालासाहेब ठाकरे जी ने जिन विचारों का जीवन भर विरोध किया ऐसे लोगों के साथ उन्होंने गठबंधन किया।”
उन्होंने आगे कहा “इसके बाद हमने महाराष्ट्र में ढाई साल में एक सरकार देखी जिसमें न कोई तत्व, न कोई विचार और न गति थी। वो लोग चालू इंफ्रास्ट्रक्चर को बंद कर रही थी। वो लगातार भ्रष्टाचार में लिप्त थे।” इस दौरान उन्होंने जेल में बाद एनसीपी नेता व एमवीए सरकार में मंत्री रहे अनिल देशमुख और नवाब मालिक का भी जिक्र किया।
शिवसेना के अधिकतर विधायकों के बगावत के बाद पार्टी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे द्वारा मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिए जाने के एक दिन बाद मीडिया से बात करते हुए देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि बीजेपी शिंदे की अगुवाई वाली सरकार के साथ रहेगी, लेकिन वें खुद सरकार में कोई पद नहीं लेंगे।
उल्लेखनीय है कि गुरुवार को विधानसभा में होने वाले फ्लोर टेस्ट को रोकने की तमाम कोशिशें नाकाम होने के बाद बहुमत परिक्षण पर मतदान होने से पहले बुधवार रात को ही उद्धव ठाकरे ने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया। बीजेपी ने उद्धव ठाकरे के इस्तीफे को महाराष्ट्र की जनभावना और लोकतंत्र की जीत बताते हुए कहा था कि उद्धव ठाकरे को काफी पहले ही इस्तीफा दे देना चाहिए।
बता दें कि उद्धव ठाकरे ने खुद कई बार कहा था कि महा विकास आघाडी बनने के बाद वह मुख्यमंत्री बनने के इच्छुक नहीं थे लेकिन एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने उनके शीर्ष पद की जिम्मेदारी लेने पर जोर दिया।मुख्यमंत्री के तौर पर उद्धव ठाकरे (61 वर्षीय) की राजनीतिक पारी बुधवार रात को अचानक उस समय समाप्त हो गई जब तमाम कोशिशों के बाद भी शिंदे गुट उनके साथ लौटने को राजी नहीं हुआ।

Related posts

बिजली के हाईटेंशन तार की चपेट में आने से पांच महिला मज़दूर ज़िंदा जलीं : आंध्र प्रदेश

Such Tak

अलवर में मंदिर ढहाने का विवाद, इनसाइड स्टोरी:जिस बोर्ड ने सहमति दी, उसमें 35 में 32 पार्षद BJP के

Such Tak

देवा गुर्जर उर्फ देवा डॉन की हत्या से जुड़ा अहम खुलासा, पहली बार सामने आया लिखित बयान

Such Tak