04/07/2022
देश राजनीति

राज्यसभा चुनाव : राजस्थान से राज्यसभा की चार सीटों के लिए कांग्रेस और भाजपा के उम्मीदवारों ने किए नामांकन दाखिल, सुभाष चंद्रा की एंट्री से रोचक हुआ मुकाबला

जयपुर: राज्यसभा चुनावों में राजस्थान (Rajasthan Rajya Sabha elections) से चार सीटों के लिए सत्तारूढ़ कांग्रेस (Congress) और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के उम्मीदवारों ने मंगलवार को यहां नामांकन दाखिल किए. साथ ही, हरियाणा से निर्दलीय राज्यसभा सदस्य सुभाष चंद्रा ने भी भाजपा समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में नामांकन दाखिल किया.

कांग्रेस की ओर से मुकुल वासनिक, प्रमोद तिवारी और रणदीप सिंह सुरजेवाला ने यहां राज्य विधानसभा में अपना नामांकन दाखिल किया. इस अवसर पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, कांग्रेस की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा तथा पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट सहित पार्टी के अन्य विधायक भी मौजूद थे.

भाजपा की ओर से पूर्व मंत्री घनश्याम तिवाड़ी ने अपना नामांकन दाखिल किया. पार्टी की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष सतीश पूनियां और पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे भी इस दौरान उनके साथ थे. वहीं, चंद्रा ने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामांकन दाखिल करने के समय उनके साथ भाजपा के उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ तथा अन्य नेता भी थे.

चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने का आज आखिरी दिन था:
राजस्थान से राज्यसभा की चार सीटों पर चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने का आज आखिरी दिन था. निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार नामांकन पत्रों की जांच एक जून को होगी. तीन जून तक नाम वापस लिये जा सकते हैं और मतदान 10 जून को होगा. भाजपा के चारों राज्यसभा सदस्यों ओम माथुर, के.जे अल्फोंस, रामकुमार वर्मा और हर्षवर्धन सिंह का कार्यकाल चार जुलाई को पूरा होने जा रहा है. इन सीटों के लिए चुनाव हो रहा है.

राजस्थान विधानसभा में इस समय कांग्रेस के 108, भाजपा के 71 विधायक:
उल्लेखनीय है कि 200 सीटों वाली राजस्थान विधानसभा में इस समय कांग्रेस के 108, भाजपा के 71 विधायक हैं. वहीं, 13 निर्दलीय, राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के तीन, माकपा व भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) के दो-दो विधायक हैं. राज्यसभा में राज्य से कुल 10 सीटें हैं.

Related posts

हार्दिक पटेल कांग्रेस छोड़ने के एक पखवाड़े बाद जानिये कौनसी पार्टी को कर सकते है ? JOIN

Such Tak

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का बड़ा बयान-बीजेपी-आरएसएस ने गांधी-अंबेडकर को कभी नहीं माना

Such Tak

उपद्रवियों के घर पर बुलडोजर चलाने के विरोध में गहलोत:कहा- ये अधिकार PM-CM को भी नहीं, क्या हम करौली में बुलडोजर चलवा दें?

Such Tak