06/10/2022
देश राजनीति

हनुमान चालीसा का विवाद:राजद्रोह में जेल में बंद राणा दंपति की जमानत पर फैसला आज, पुलिस ने कहा-सरकार गिराने का था प्रयास

मुंबई की भायखला महिला जेल में बंद अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा और तलोजा जेल में बंद उनके विधायक पति रवि राणा की जमानत अर्जी पर आज फैसला आ सकता है। इससे पहले 29 अप्रैल को हुई सुनवाई में मुंबई पुलिस ने राजद्रोह लगाने को लेकर अपना लिखित जवाब अदालत के सामने दाखिल किया है। अपने जवाब में पुलिस ने राजद्रोह की धारा को उचित बताया और कहा कि उसका बेजा इस्तेमाल नहीं किया गया है।

पुलिस ने अदालत को बताया कि राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता के कारण राणा दंपती ने चुनी हुई सरकार को अस्थिर करने का काम किया है। उन्होंने सीएम उद्धव ठाकरे को हिंदू विरोधी साबित करने के लिए यह सब किया।

अपने रिप्लाई में खार पुलिस ने दोनों पर दर्ज 6 केस का हवाला देते हुए जमानत का विरोध किया है। आज पुलिस के इस तर्क पर राणा दंपती को अपना बचाव करना है। उनकी ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता रिजवान मर्चेट पक्ष रखने वाले हैं। दोनों को राजद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। इसके अलावा एक अन्य FIR में उनके खिलाफ सरकारी काम में बाधा पहुंचाने और पुलिसकर्मियों से बदसलूकी का आरोप है। इससे पहले दूसरी FIR को रद्द करने की याचिका पहले ही बॉम्बे हाईकोर्ट से खारिज हो चुकी है।

वहीं, मुंबई पुलिस की मांग और अदालत में ज्यादा पेंडिंग केस होने के कारण जमानत अर्जी पर सुनवाई पहले 29 अप्रैल तक के लिए टाल दी गई थी। राणा दंपती ने मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने का ऐलान किया था, जिसके बाद शिवसेना प्रमुख के घर के बाहर हजारों शिवसैनिक जमा हो गए थे। मुंबई पुलिस ने इस कानून-व्यवस्था की स्थिति के लिए राणा दंपती को ही जिम्मेदार बताया और अरेस्ट किया था। शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत लगातार दोनों पर निशाना साध रहे हैं और उन्हें बीजेपी का एजेंट बता रहे हैं।

नवनीत ने घर का खाना देने की मांग की
भायखला महिला जेल में बंद सांसद नवनीत राणा ने गुरुवार को एक और याचिका दायर कर घर का खाना दिए जाने की इजाजत मांगी है। दोनों याचिकाओं पर आज सुनवाई होगी। आज अगर राणा दंपती को जमानत मिलती है तो वे बाहर आ सकते हैं। बॉम्बे हाईकोर्ट के आदेश के बाद उनके खिलाफ दर्ज दूसरी FIR में गिरफ्तारी से 72 घंटे पहले मुंबई पुलिस को उन्हें एक नोटिस देना होगा।

पहले पुलिसकर्मियों पर दुर्व्यवहार का लगाया था आरोप
हिरासत में रहने के दौरान नवनीत राणा ने लोकसभा स्पीकर ओम बिरला को पत्र लिखकर थाने में दुर्व्यवहार करने, पीने का पानी तक नहीं देने और शौचालय नहीं जाने देने जैसे आरोप लगाए थे। इसके बाद में मुंबई के पुलिस कमिश्नर संजय पांडे ने एक वीडियो शेयर किया था। इसमें थाने के अंदर सासंद नवनीत राणा अपने विधायक पति रवि राणा के साथ चाय पीते हुए नजर आईं थीं।

3 अप्रैल को हुआ था विवाद
दरअसल ये पूरा विवाद तब शुरू हुआ जब नवनीत राणा और उनके पति रवि राणा ने मातोश्री के सामने 23 अप्रैल की सुबह हनुमान चालीसा का पाठ करने का ऐलान किया। ऐलान के विरोध में बड़ी तादाद में शिवसैनिक नवनीत राणा के घर बाहर जमा हो गए और विरोध प्रदर्शन लगे। हंगामे के बाद नवनीत राणा और उनके पति को गिरफ्तार कर लिया गया।

जेल में बंद अमरावती की सांसद नवनीत राणा का अंडरवर्ल्ड से कनेक्शन भी सामने आया है। शिवसेना नेता संजय राऊत ने आरोप लगाया है कि नवनीत राणा का अंडरवर्ल्ड से नाता है। नवनीत ने यूसुफ लकड़ावाला से 80 लाख रुपए कर्ज लिए थे।

Related posts

PUNJAB: अमरिंदर सिंह राजा पंजाब पीसीसी के अध्यक्ष नियुक्त, बाजवा विधायक दल के नेता बने

Such Tak

IPL 2022 : चहल के आगे धराशाई हुई KKR, IPL 2022 की पहली हैट्रिक

Such Tak

ज्ञानवापी: परिसर के दो तहखानों को खोला गया, 12 बजे तक होगा सर्वे

Such Tak