25/09/2022
देश

उम्मीद है भारत सहायता करना जारी रखेगा : श्रीलंका संकट पर सोनिया गांधी ने वहां के लोगों के प्रति एकजुटता दिखाई

पिछले कुछ महीनों से श्रीलंका आर्थिक और राजनीतिक संकट से जूझ रहा है. ऐसे में वहां की स्थिति इतनी खराब हो चुकी है कि वहां की लाखों की तादाद में जनता सड़कों पर उतर कर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं. इसी बीच कोंग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने श्रीलंका के लोगों के प्रति एकजुटता व्यक्त की.

सोनिया गांधी ने पत्र लिखकर कहा है कि, ‘कांग्रेस इस गंभीर संकट की घड़ी में श्रीलंका और उसके लोगों के साथ अपनी एकजुटता व्यक्त करती है और आशा करती है कि वे इससे उबरने में सक्षम होंगे. हमें उम्मीद है कि भारत श्रीलंका के लोगों और सरकार की सहायता करना जारी रखेगा क्योंकि वे मौजूदा स्थिति से निपटने में कठिनाइयों का सामना कर रहे हैं.’

भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने रविवार को कहा की श्रीलंका की हालिया स्थिति पर भारत करीब से नजर बनाए हुए हैं और उसे मदद मुहैया कराई जा रही है. साथ ही उन्होंने कहा कि अभी तक शरणार्थी समस्या पैदा नहीं हुई है. एस जयशंकर के अनुसार भारत ने श्रीलंका को आश्वासन दिया है कि पहले की तरह इस बार भी भारत मजबूती से श्रीलंका के साथ खड़ा है.

शनिवार को श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे अचानक से अपने सरकारी आवास से भाग गए जिसके बाद वहां की जनता ने उनके घर को घेर लिया. शाम होते-होते प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने भी प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया ताकि देश में सभी पार्टियों की सरकार बनने का रास्ता खुल सके.

लेकिन बाद में खबर आई की राष्ट्रपति राजपक्षे भी अपने पद से इस्तीफा देने पर सहमत हो गए हैं और 13 जुलाई को इस्तीफा देंगे.

Nupur Sharma को धमकी देने वाले सलमान चिश्ती का दरगाह कनेक्शन और परिवार का इतिहास

Related posts

गाय को बचाने के लिए ब्रेक लगाया, सड़क पर पानी होने के कारण फिसली एम्बुलेंस: 4 की मौत, कर्नाटक

Such Tak

महाराष्ट्र : शिवसेना विधायक की पत्नी ने किया सुसाइड

Such Tak

दिल्ली : जहांगीरपुरी हिंसा – साजिश या अचानक

Such Tak