01/12/2022
देश राजनीति

औरंगजेब को पत्र लिखकर शिवाजी ने 5 बार मांगी माफी! सुधांशु त्रिवेदी ने दिया विवादित बयान; महाराष्ट्र में छिड़ा संग्राम

महाराष्ट्र में सियासी घमासान जारी हैं। फिलहाल राज्य में विवादित बयानों की बयार बह रही है। एक के बाद एक विवादित बयान दिए जा रहे हैं। जिसमें पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने वीर सावरकर को लेकर विवादित बयान दिया। उसके बाद महामहिम राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने शिवाजी महाराज को लेकर विवादित बयान दिया। अब बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने भी शिवाजी महाराज को लेकर विवादित बयान दिया है।

महाराष्ट्र में सियासी घमासान जारी हैं। फिलहाल राज्य में विवादित बयानों की बयार बह रही है। वीर सावरकर, छत्रपति शिवाजी महाराज, इतिहास और विवादित बयान के चलते महाराष्ट्र का राजनीतिक और सामाजिक पारा इन दिनों गरमाई है। महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी  द्वारा शिवाजी महाराज को लेकर दिए गए विवादित बयान के बाद अब एक नया विवादित बयान सामने आया है। यह बयान बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने दिया है।

सुधांशु त्रिवेदी ने अपने बयान में कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज ने पांच बार औरंगजेब को पत्र लिखकर माफी मांगी थी। सुधांशु त्रिवेदी के इस बयान के बाद महाराष्ट्र में संग्राम छिड़ गया है। त्रिवेदी ने यह बयान एक निजी चैनल के डिबेट शो में बातचीत के दौरान दिया है। फिलहाल यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है और सुधांशु त्रिवेदी की जमकर आलोचना की जा रही है।

विपक्ष ने बीजेपी पर साधा निशाना: बता दें कि बीजेपी राष्ट्रिय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी के इस विवादित बयान के बाद शिवसेना (उद्धव गुट) के सांसद संजय राउत ने उन पर जमकर हमला बोला है। संजय राउत ने कहा कि सुधांशु त्रिवेदी ने शिवाजी महाराज का अपमान किया है। सत्ता के लालच में बीजेपी की गोद में बैठ स्वाभिमान की भाषा बोलने वाले महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे अब चुप क्यों हैं? संजय राउत ने सवाल किया है कि क्या शिवाजी का अपमान क्या आप सहन कर सकते हैं?
वहीं, दूसरी तरफ उद्धव गुट के एक अन्य प्रवक्ता आनंद दुबे ने कहा कि जिस छत्रपति शिवाजी महाराज का नाम सुनकर जिस औरंगजेब को रात भर नींद नहीं आती थी। जिस शिवाजी की वीर सेना ने मुगलों की नाक में दम कर दिया था। उस वीर शिवाजी के बारे में बीजेपी के प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ऐसी बात कह रहे हैं। शायद सुधांशु त्रिवेदी इतिहास पूरा जानकारी नहीं जानते है।

 

आनंद दुबे ने आगे यह भी कहा कि अच्छा होता कि पीएम दूसरों को ज्ञान बांटने की बजाय अपने प्रिय प्रवक्ता को इतिहास की किताब पढ़ने की सलाह देते। छत्रपति शिवाजी महाराज के अपमान को महाराष्ट्र का एक भी बच्चा बर्दाश्त नहीं करेगा। शिवाजी महाराज केवल महाराष्ट्र के ही नहीं बल्कि संपूर्ण देशवासियों के लिए श्रद्धा और प्रेरणा के स्रोत हैं।

एनसीपी और कांग्रेस ने भी बीजेपी पर बोला हमला: इस मुद्दे पर एनसीपी ने भी बीजेपी पर जमकर हमला बोला हैं। एनसीपी के प्रवक्ता महेश तपासे ने कहा कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और सुधांशु त्रिवेदी के बयान पर बीजेपी को माफी मांगनी चाहिए। महाराष्ट्र की जनता और एनसीपी शिवाजी का अपमान बिलकुल बर्दाश्त नहीं करेगी। महेश तपासे ने सुधांशु त्रिवेदी से सवाल पूछते हुए कहा कि क्या आप जानते हैं कि किन कदहिनाईयों में शिवाजी महाराज ने मुगलों को महाराष्ट्र से बाहर भगाया था। आपको शिवाजी महाराज का बार बार अपमान करने का अधिकार किसने दिया है?
महेश तपासे ने आगे कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज महाराष्ट्र के लोगों की आत्मा है, उनकी सांस और उनका प्राण हैं। उनके ऊपर कोई भी विवादित टिप्पणी बिलकुल भी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। वहीं एनसीपी के वरिष्ठ नेता जितेंद्र आव्हाड ने कहा कि शिवाजी महाराज ने 5 बार औरंगजेब से पत्र लिखकर माफी मांगी, यह कहने वाला कोई मूर्ख ही होगा। इस मुद्दे पर महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा कि बीजेपी प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी अपने विवादित बयान के लिए माफी मांगे, वरना महाराष्ट्र में बीजेपी नेताओं का बाहर निकलना मुश्किल हो जायेगा।

Related posts

उड़ने वाले ‘सोने के कछुए’, अब वैज्ञानिकों ने राज से उठाया पर्दा

Such Tak

डायवर्जन चेनल के दूसरे फेज की घोशणा पर व्यापार महासंघ ने जताया राज्य सरकार का आभार पहले फेज का अवरोध भी शीघ्र निस्तारण की आशा

Such Tak

विपक्ष के 13 नेताओं ने सांप्रदायिक हिंसा पर चिंता जताई, प्रधानमंत्री की ‘चुप्पी’ पर सवाल उठाया

Such Tak