30/09/2022
खेल देश

हार्दिक ने पूरी की ऑलराउंडर की कमी, नंबर-4 पर सूर्या फिट; कोहली का बैकअप भी मिला : वर्ल्ड कप से पहले भारत की 5 मुश्किलें खत्म

2011 के बाद भारतीय क्रिकेट टीम कोई वर्ल्ड कप नहीं जीत पाई है। ऐसे में उम्मीद लगाई जा रही है कि इस साल अक्टूबर में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप में भारत कमाल करेगा और 11 साल से आ रहे सूखे को खत्म करेगा। इसके लिए टीम मैनेजमेंट को भी बदल दिया गया है। रोहित शर्मा को कप्तानी और राहुल द्रविड़ को कोचिंग का जिम्मा सौंपा गया है।

भारत ने 2007 से अब तक दो वर्ल्ड जीते हैं। एक वनडे और एक टी-20 वर्ल्ड कप। दोनों में ही युवराज सिंह सबसे अहम खिलाड़ी साबित हुए थे। नंबर-4 पर विस्फोटक बल्लेबाजी युवी की खासियत थी। अगर टॉप आर्डर अच्छा परफॉर्म करता तो युवी नंबर-4 पर आकर टीम को और भी अधिक ऊंचाई पर ले जाते। अगर टॉप ऑर्डर फेल होता तो युवराज पारी संभालने का काम करते थे।

तब से अब तक भारतीय टीम WHITE BALL क्रिकेट में नंबर-4 पर युवराज का रिप्लेसमेंट खोज रही थी। इस दौरान नए-पुराने कुल 18 खिलाड़ियों को इस नंबर पर आजमाया गया, लेकिन कोई भी खुद को युवराज का एक चौथाई भी साबित नहीं कर पाया। अब इंग्लैंड दौरे पर ये परेशानी खत्म हो गई है। सूर्यकुमार यादव के रूप में टीम को नंबर-4 पर बल्लेबाजी करने के लिए एक तगड़ा खिलाड़ी मिला है। अंग्रेजों के खिलाफ टी-20 सीरीज में तीन मुकाबलों की तीन पारियों में सूर्या ने 171 रन बनाए। इसमें एक शानदार शतक भी मौजूद था। सूर्यकुमार पेस और स्पिन दोनों खेलने में एक समान महारत रखते हैं।

हार्दिक की पीठ की चोट ठीक नहीं हो रही थी। वे गेंदबाजी नहीं कर पा रहे थे। भारतीय टीम ने उन्हें टी-20 वर्ल्ड कप तक मौका दिया फिर ड्रॉप कर दिया। जिस मुंबई इंडियंस को उन्होंने कई बार चैम्पियन बनाया उसने तो एक सीजन भी इंतजार नहीं किया। पंड्या को रिटेन नहीं किया गया। पंड्या इससे टूटे नहीं। कड़ी मेहनत की। फिटनेस को दुरुस्त किया और ग्राउंड पर वापसी कर ली।

पहले उन्होंने IPL-2022 में बतौर कप्तान नई-नवेली टीम गुजरात टाइटंस को चैम्पियन बनाया और फिर उसके बाद इंग्लैंड दौरे पर क्या कमाल की वापसी की है। टी-20 सीरीज हो या वनडे सीरीज दोनों में हार्दिक ने अपने बल्ले और गेंद दोनों से कमाल दिखाया है। वनडे सीरीज में वो ऋषभ पंत के बाद सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज थे। वहीं, 3 मुकाबले में इस खिलाड़ी ने 6 विकेट भी अपने नाम किए। अंग्रेजों के खिलाफ पहले टी-20 में उनका प्रदर्शन भला कौन भूल सकता है। बल्लेबाजी करते हुए हार्दिक ने 33 गेंद में 51 रन जड़ दिए थे। वहीं, जब गेंदबाजी की बारी आई तो 4 विकेट भी झटके और टीम इंडिया को मैच में जीत दिलाई।

हार्दिक के टीम में वापसी से मिडिल ऑर्डर में मजबूती आ गई है। हार्दिक ने यह डिबेट भी समाप्त कर दिया है कि टी-20 वर्ल्ड कप में भारत का ऑलराउंडर कौन होगा। अगर कोई खिलाड़ी एक ही मैच में फिफ्टी भी जमाए और चार विकेट भी ले तो उससे बेहतर दावेदार कौन हो सकता है।

नूपुर शर्मा का वीडियो देखने पर 6 बार चाकू से गोदा, ICU में भर्ती : सीतामढ़ी में उदयपुर जैसी घटना!

कोहली के बैकअप हुड्डा​​​​​​

विराट कोहली आयरलैंड-इंग्लैंड दौरे के पहले तीन टी-20 मैचों में भारतीय टीम का हिस्सा नहीं थे। उनकी जगह इन मुकाबलों में दीपक हुड्डा ने टॉप ऑर्डर में बल्लेबाजी की। दो बार वे नंबर-3 पर आए और एक बार ओपनिंग की। हुड्डा ने इन तीन मैचों में 92 की औसत और 179 के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी की। हुड्डा की एक और खासियत यह है कि वे ऑफ स्पिन गेंदबाजी भी कर लेते हैं। यानी विराट अगर जल्द फॉर्म में नहीं लौटे और तेज बल्लेबाजी नहीं की तो नंबर-3 का स्पॉट बचाए रखना उनके लिए काफी मुश्किल हो सकता है।

सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, अग्निपथ योजना से जुड़े सभी मामले दिल्ली हाईकोर्ट में किए ट्रांसफर : Agneepath Scheme

Related posts

MNS की लाउडस्पीकर पॉलिटिक्स:सामना दफ्तर के बाहर लगाए पोस्टर, लिखा-क्या फिर से पलट दें संजय राउत की कार; राज ठाकरे ने शाह को लिखा पत्र

Such Tak

दिल्ली हाईकोर्ट ने जयराम रमेश समेत कांग्रेस के 3 नेताओं को कहा – ‘स्मृति ईरानी की बेटी से जुड़ा ट्वीट तुरंत करो डिलीट’

Such Tak

मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे से 12 गुना ज्यादा अमीर हैं शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, जानें किसके पास कितनी संपत्ति

Such Tak