08/02/2023
खोज खबर देश मनोरंजन राजस्थान

जयपुर साहित्य के महाकुंभ का समापन आज: 5 दिन लगा मेला

सजी साहित्य, संगीत और खाने की त्रिवेणी…

देश-दुनिया के नामचीन के साहित्य उत्सव में शामिल पांच दिवसीय जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल का समापन सोमवार को हो रहा है। चार दिन तक विभिन्न विषयों पर संवाद के लिए दुनियाभर के साहित्यकार शामिल हुए। आखिरी दिन भी भारत-चीन सहित कई कंटेम्पेररी मुद्दों पर विशेषज्ञ अपनी बात रख रहे है। रविवार की रात जहां आमेर महल में हैरिटेज इवनिंग आयोजित हुई, जिसमें क्लासिकल डांस परफॉर्मेंस ने देश-दुनिया से आए साहित्यकारों से तालियां बटोरी।

राइटर साइमन बोले भविष्य में ग्रेट एम्पायर स्टेट इंडिया होगा-

जेएलएफ में सोमवार को आयोजित सेशन द वर्ल्ड: ए फैमिली हिस्ट्री आॅफ ह्यूमैनिटीज में राइटर त्रिपुर दमन सिंह के साथ साइमन ने चर्चा की। साइमन ने कहा कि फैमिली हमारा मिरर है, हमारी पावर यही है। मैंने बुक में वर्ल्ड लेवल के सभी डिक्टेटर की बारे में, उनके कार्य के अंदाज के बारे में लिखा है। यह फुल ऑफ डार्कनेस के साथ है, जहां हर तरह के युद्ध और क्रूरता भी पढ़ने को मिलेगी। वेस्टर्न डेमोक्रेसी के बाहर भारत और पाकिस्तान में डायनेस्टी देखने को मिलती है। किताब में मैंने आगामी पचास साल के भविष्य के बारे भी लिखा है, जिसमें भारत, चीन के साथ विश्व की सुप्रीम पावर में होगा। आज ग्रेट एम्पायर स्टेट अमरीका ओर चाइना है, लेकिन भविष्य में भारत भी इसमें शामिल होगा।

राइटर साइमन सिबेग ने कहा कि फैमिली डायनेस्टी की हिस्ट्री इंडिया में ही नहीं है, इसे पूरे विश्व में देखा जा सकता है। फैमिली पावर का अलग इफेक्ट है, नेहरू, कैनेडी, रूजवेल्ट इसका सीधा उदाहरण है। पूरे विश्व में ऐसा हो रहा है। इसका पॉजिटिव इफेक्ट भी और नेगेटिव भी। नोर्थ कोरिया में यह घातक है, जहां किमजोंग रूल कर रहे हैं।

23 जनवरी लिटरेचर फेस्ट के सेशंस

• सेशन: द वर्ल्ड ए फैमिली हिस्ट्री ऑफ ह्यूमैनिटी • समय: 10:00-10:50 वेन्यू फ्रंट लॉन स्पीकर : त्रिपुरदमन सिंह के साथ साइमन, बाग मोंटेफियोर

• सेशन लाइज अवर मदर टोल्ड असः द इंडियन वुमन्स बर्डन • समय : 10:00-10:50 वेन्यू: मुगल टेंट स्पीकर : कांता सिंह के साथ नीलांजना भौमिक

• सेशन एम्पायरः द स्टोरी ऑफ ए वर्ल्ड कॉनकेरिंग पोडकास्ट • समय 11:00-11:50 वेन्यू फ्रंट लॉन स्पीकर : बी रोलेट के साथ बातचीत में विलियम डेलरिम्पल और अनीता आनंद

• सेशन: द फ्यूचर ऑफ मनी • समय 11:00-11:50 वेन्यू: चारबाग स्पीकर: शैलेंद्र राज मेहता के साथ बातचीत में ईश्वर प्रसाद

• सेशनः एमिलियन मिशन्सः सीएसओ काएलिशन@75 . • समय 11:00-11:50 वेन्यू दरबार हॉल स्पीकर : मैथ्यू चेरियन द्वारा परिचय, देवल संघवी और पुष्पा अमन सिंह कस्तूरी गांधी द्वारा सेक्टर प्रस्तुति, संजॉय के रॉय के साथ बातचीत में अंकुर सरीन, जेसिम पेस और वंदना शिवा, शोम्बी शार्प, गायत्री लोबो द्वारा लॉन्च

• सेशन: फर्स्ट एडिशनः एनरजाइज यॉअर माइंड • समय : 1:00-150 वेन्यू फ्रंट लॉन स्पीकर : पुनीता रॉय के साथ गौर गोपाल दास

• सेशन: फूड फॉर थॉट • समय : 2:00-2:25 वेन्यू: चारबाग स्पीकर : मंदिरा नायर के साथ वीर सांघवी

• सेशन: क्लोजिंग डिबेट: राइट एंड लेफ्ट डिवाइड . कैन नेवर बी ब्रिज्ड • समय: 05:30-07:00 बजे वेन्यू फ्रंट लॉन स्पीकर : वीर सांघवी द्वारा संचालित मकरंद आर परांजपे, पुरुषोत्तम अग्रवाल, पवन के वर्मा, प्रियंका चतुर्वेदी

आठवें महाकवि कन्हैयाला सेठिया पुरस्कार से इस साल आधुनिक भारतीय कवि, आलोचक, संपादक, अनुवादक और अकादमिक के के. सच्चिदानंदन को सम्मानित किया गया।सच्चिदानंदन ने नाटकों और यात्रा वृत्तांतों के अलावा 21 कविता संग्रह, विश्व कविता पर 16 पुस्तकों का अनुवाद करने के साथ ही मलयालम और अंग्रेजी में साहित्यिक आलोचना की 21 रचनाएं लिखी हैं। अंग्रेजी और मलयालम कवि को कविता, नाटक, अनुवाद और यात्रा वृत्तांत के लिए केरल साहित्य अकादमी पुरस्कार भी मिला है। इसके अलावा 2012 में उनके काव्य संग्रह मारन्नुवेचा वास्तुक्कल के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार भी प्रदान किया जा चुका है। उनकी कविता के प्रतिनिधि संग्रह अठारह भाषाओं में प्रकाशित हुए हैं।

इरशाद कामिल को मिला द्वारका प्रसाद अग्रवाल अवॉर्ड
दरबार हॉल में आयोजित सेशन की शुरुआत में दैनिक भास्कर के जगदीश शर्मा, एलपी पंत और मुकेश माथुर ने कवि व गीतकार इरशाद कामिल को द्वारका प्रसाद अग्रवाल’ अवॉर्ड से सम्मानित किया। उन्हें 1 लाख रुपए, प्रशस्ति पत्र व शॉल सम्मान स्वरूप दिया गया। साहित्य के इसी मंच पर इस अवॉर्ड की शुरुआत 2016 में हुई।
इरशाद कामिल इकलौते ऐसे गीतकार हैं जिन्हें पंजाब यूनिवर्सिटी ने साहिर लुधियानवी अवॉर्ड दिया है। इस गीतकार की हिंदी कविताएं हिंदी की सबसे प्रतिष्ठित पत्रिका ‘पहल’ में कई बार छपी हैं। अपनी बेहतरीन गीतकारी के लिए 3 बार फिल्म फेयर, आईफा स्क्रीन, जी सिने, अप्सरा जैसे कई अवॉर्ड अपने नाम कर चुके हैं। दैनिक भास्कर में राष्ट्रीय स्तर पर छपने वाले कॉलम ‘बंदिशों से परे’ पाठकों द्वारा लगातार सराहा जा रहा है। इन्होंने ‘जब वी मेट’, ‘लव आजकल’, ‘रांझणा’, ‘रॉकस्टार’, ‘सुल्तान’, ‘हाईवे’ व ‘तमाशा’ जैसी कई फिल्मों में गीत लिखे हैं। काली औरत का ख्वाब, एक महीना नज्मों का बोलती दीवारें, समकालीन कविता समय और समाज जैसी किताबें प्रकाशित हो चुकी हैं।

 

Related posts

जहांगीरपुरी का मास्टरमाइंड: आखिर कौन हैं

Such Tak

18 और कोरोना पॉजटिव जिला हमीरपुर में,जिसमे 3 कर्मी Dc और RTO कार्यलय के कर्मी भी शामिल

Web1Tech Team

जिग्नेश मेवाणी केस में असम पुलिस को कोर्ट की फटकार:अदालत ने कहा- पुलिस ने विधायक को जान-बूझकर फंसाया, इस मनमानी पर रोक जरूरी

Such Tak