08/02/2023
खोज खबर बारा विशेष हाडोती आँचल

बारां: मालबमोरी-बारां 41.20 किमी टू-लेन सड़क 184 करोड़ की लागत से पीपीपी मोड से बनेगी

बारां में कर्माजी की बाबड़ी से नियाना फोरलेन अंडरपास तक बनेगा बाईपास, बारां-मांगरोल बाईपास की भी तैयारी

यह साल बारां में बेहतर रोड कनेक्टिविटी को लेकर नए आयाम स्थापित करेगा। माल बमोरी मांगरोल से बारां बाईपास कुल 41.20 किमी सड़क निर्माण पर कुल 184 करोड़ रुपए खर्च होंगे। इसमें कर्माजी की बावड़ी से नियाना हाइवे अंडरपास तक 5 किमी का बाईपास भी बनेगा। वर्ल्ड बैंक से फंडिंग होने से यह सड़क पीपीपी मोड पर बनेगी। इसमें एक टोल भी होगा। इसको लेकर तैयारियां तेज हैं। पीपीपी मोड पीडब्ल्यूडी कोटा के अधिकारियों के अनुसार माल बमोरी मांगरोल बाईपास, बारां बाईपास तक कुल 41.20 किमी टूलेन सड़क बनेगी। इसमें मांगरोल और बारां का बाईपास बनेगा। वहीं सड़क का सुदृढ़ीकरण भी होगा। यह सड़क वर्ल्ड बैंक से फंडिंग होने से पीपीपी मोड पर बनेगी।

 

29.6 हैक्टेयर भूमि होनेी है अधिगृहित
मांगरोल व बारां बाईपास को लेकर कुल 29.6 हैक्टेयर भूमि अधिगृहित होनी है। इसको लेकर जनसुनवाई 26 दिसंबर को हो गई है। सोशल इंपैक्ट असेसमेंट रिपोर्ट बनेगी। इसके बाद धारा 11 की कार्रवाई होगी। इसके बाद धारा 19 की कार्रवाई होगी।

एक साल से चल रहा बारां बाईपास का मामला
मांगरोल से बारां बाईपास सड़कों लेकर करीब एक साल से मामला चल रहा है। इसको कोटा रोड पर निकालने को लेकर भी विचार किया गया। कोटा और मांगरोल की तरफ ट्रेफिक अधिक होने से इसका फायदा ज्यादा मिलता, लेकिन इसमें सफलता नहीं मिलने से इसको शाहाबाद रोड की तरफ निकाला जाएगा।

फरवरी में होंगे टेंडर, जल्द शुरू होगा काम विभागीय अधिकारियों के अनुसार दोनों बाईपास पर 29.6 हैक्टेयर जमीन का मुआवजा और सड़क निर्माण की कुल 184 करोड़ में ही शामिल है। प्रयास है कि फरवरी में निविदा लग जाए। मई-जून में इसका काम शुरू हो जाएगा। एक साल में यह बनकर तैयार हो जाएगा।

शहर में कम होगा ट्रैफिक का दबाब
मांगरोल रोड से बाईपास तक सड़क का निर्माण होने से शहर में माथना तिराहा से लेकर मेला ग्राउंड, धर्मादा चौराहा, प्रताप चौक तक ट्रेफिक का दबाव कम होगा। शहर से भारी वाहनों की आवाजाही नहीं होगी। ट्रेफिक का दबाव कम होने से वाहन चालकों को राहत मिलेगी

फरवरी में होंगे टेंडर, जल्द शुरू होगा काम
विभागीय अधिकारियों के अनुसार दोनों बाईपास पर 29.6 हैक्टेयर जमीन का मुआवजा और सड़क निर्माण की कुल 184 करोड़ में ही शामिल है। प्रयास है कि फरवरी में निविदा लग जाए। मई-जून में इसका काम शुरू हो जाएगा। एक साल में यह बनकर तैयार हो जाएगा।

शहर में कम होगा ट्रैफिक का दबाब
मांगरोल रोड से बाईपास तक सड़क का निर्माण होने से शहर में माथना तिराहा से लेकर मेला ग्राउंड, धर्मादा चौराहा, प्रताप चौक तक ट्रेफिक का दबाव कम होगा। शहर से भारी वाहनों की आवाजाही नहीं होगी। ट्रेफिक का दबाव कम होने से वाहन चालकों को राहत मिलेगी

यह होगा फायदा..

शहर की अन्य जिला सड़कों से कनेक्टिविटी बेहतर होगी तथा कारोबार में भी बढ़ोतरी होगी |

Related posts

पैरोल पर छूटे राम रहीम ने तलवार से केक काटा: 5 घंटे ऑनलाइन सत्संग किया

Such Tak

अंता में सीसवाली सड़क का निर्माण कार्य जोरों पर: एहतियातन हो रही बिजली कटौती, अघोषित कटौती से लोग परेशान

Such Tak

ज्ञानवापी: परिसर के दो तहखानों को खोला गया, 12 बजे तक होगा सर्वे

Such Tak