08/02/2023
खोज खबर बारा विशेष हाडोती आँचल

बारां: हाउसिंग बोर्ड बारां खंड कार्यालय को करेगा बंद, आवंटियों को काेटा के काटने पड़ेंगे चक्कर

बारां समेत प्रदेश के 9 खंड कार्यालय किए समायोजित, आदेश 16 जनवरी से लागू होगा , लंबे समय से किराए के भवन में चल रहा है कार्यालय..

राजस्थान आवासन बारां सहित प्रदेश में अपने 9 खंड कार्यालय बंद कर रहा है। इनकी जगह सब डिवीजन आफिस चलेंगे। आदेश 16 जनवरी से लागू हो गया। यहां एक्सईएन की जगह सिर्फ एईएन बैठेगा। जाहिर है, पॉवर कम हो जाने से आवास आवंटियों को कई काम के लिए कोटा जाना पड़ेगा।

वहीं वर्तमान में कार्य कर रहे कार्मिकों को भी अब चिंता सताने लगी है। गौरतलब है कि इससे पहले भी हाउसिंग बोर्ड की ओर से बारां खंड कार्यालय काे बंद करने का आदेश जारी हुआ था, लेकिन बारां विधायक के प्रयासों से आदेश स्थगित कर दिया था। हाउसिंग बोर्ड सचिव अल्पा चौधरी के आदेश 12 जनवरी 2022 के अनुसार संचालक मंडल की 22 नवंबर 2022 को आयोजित 248वीं बैठक के निर्णयानुसार राजस्थान आवासन मंडल के विभिन्न वृत, खंड कार्यालयों का समायोजन, पुनर्गठन किया जा रहा है।

वृत कार्यालय कोटा के अधीन खंड बारां भी समायोजित होगा। बारां, पाली, बाडमेर, डूंगरपुर, चित्तौड़गढ़ समेत कुल 9 खंड की जगह अग्रिम आदेश तक उपखंड कार्यालय चलेंगे, यानी भविष्य में ये भी बंद हो सकते हैं। बारां में खंड कार्यालय कई सालों से शहर के कोटा रोड ओवरब्रिज के पास स्थित किराए के भवन में चल रहा है। जहां एक्सईएन, एईएन, अकाउंटेट व अन्य समेत कुल करीब 27 पद स्वीकृत है, लेकिन लंबे समय से एक्सईएन व एईएन का पद रिक्त है, जिनका चार्ज कोटा वृत के एक्सईएन व एईएन को दे रखा है। ऐसे मे कार्यालय का संचालन महज यहां पदस्थ दो अन्य कनिष्ट सहायक व एक संविदा कर्मी के भरोसे है।

अभी भी एक ही एईएन के पास चार जिलों का प्रभार

वर्तमान में कोटा वृत के एक ही एईएन के पास चारों जिलों का प्रभार है। ऐसे में अभी बारां खंड कार्यालय पर भी एक्सईएन व एईएन भी कार्यवाहक ही लगे हुए थे। जो भी सप्ताह में एक-दो दिन ही आ पाते है। इसके चलते यहां कामकाज को लेकर काफी परेशानी बनी हुई है।

हाउसिंग बोर्ड में कर्मचारियों की आ रही कमी, जमीन की अनुपलब्धता से बरसों से नई योजनाएं लांच नहीं होना और न अभी निर्माणाधीन होना, व नई प्लानिंग नहीं करने को आधार बनाकर यह निर्णय लिया गया है। दलील यह भी कि समस्याएं व शिकायतें ऑनलाइन भी दर्ज हो सकती हैं। चित्तौड़ में ही एक समय एक्सईन, मंडल एईएन सहित करीब 27 कार्मिकों का स्टाफ स्वीकृत था। लेकिन अभी एक कार्यवाहक एक्सईएन, एक कार्यवाहक सीनियर एस्समेंट, दो कनिष्ट सहायक तथा एक संविदा कार्मिक ही कार्यरत है।

ढाई हजार आवंटियों को होगी परेशानी
खंड कार्यालय बंद होने के बाद यहां सिर्फ एईएन ही प्रभारी होंगे, लेकिन एईएन के पास सिर्फ मकानों के नक्शे बनाने, विजीट, प्लान जैसे काम ही होते हैं। बारां खंड कार्यालय से वर्तमान में 2500 से अधिक आवंटी जुड़े हुए हैं। जिसमें बारां, अंता, छबड़ा, अटरू, छबड़ा, छीपाबड़ौद, मांगरोल आदि की मिलाकर करीब 7 आवासीय येाजनाएं शामिल है।

 

Related posts

त्रिपुरा, नागालैंड, मेघालय में चुनाव की तारीखों का ऐलान आज: फरवरी में होने हैं चुनाव, आयोग दोपहर 2.30 बजे करेगा प्रेस कॉन्फ्रेंस

Such Tak

हार्दिक पटेल कांग्रेस छोड़ने के एक पखवाड़े बाद जानिये कौनसी पार्टी को कर सकते है ? JOIN

Such Tak

कोटा : हिट एंड रन- फुटपाथ पर सो रहे परिवार को कार ने रौंदा, सब्जी बेचने वाले की मौत,

Such Tak