08/02/2023
खोज खबर देश राजनीति

महबूबा मुफ्ती जम्मू-कश्मीर में राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होंगी

प्रशासन ने कहा- प्रदेश में भारत जोड़ो यात्रा की अनुमति दी जाएगी, लेकिन कानून का उल्लंघन ना हो

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) की अध्यक्ष और जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने मंगलवार को कहा कि वह जम्मू-कश्मीर में राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होंगी।

उन्होंने अदम्य साहस के लिए राहुल गांधी की प्रशंसा भी की। महबूबा मुफ्ती ने एक ट्वीट में कहा- मुझे कश्मीर में भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने के लिए औपचारिक रूप से आमंत्रित किया गया है। उनके अदम्य साहस को सलाम और मेरा मानना है कि फासीवादी ताकतों को चुनौती देने का साहस रखने वाले के साथ खड़ा होना मेरा कर्तव्य है। बेहतर भारत की ओर उनके मार्च में शामिल होंगे।

इस बीच, जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने कहा है कि केंद्रशासित प्रदेश में भारत जोड़ो यात्रा की अनुमति दी जाएगी, बशर्ते कि यह कानून का उल्लंघन न करे।

महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि राज्य के लोगों की विशेष पहचान को नुकसान पहुंचाने के बाद अब सरकार की नजर उनकी जमीन और संपत्तियों पर है.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार जम्मू के आरएस पोरा में ग्रामीणों को संबोधित करते हुए महबूबा ने कहा कि बीजेपी की नेतृत्व वाली केंद्र सरकार शांति का नाटक कर रही है और इसके उल्टे परिणाम आ रहे हैं.

पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार महबूबा ने कहा, ”जम्मू-कश्मीर में शांति सुनिश्चित करने के नाम पर भारी संख्या के में सेना की मौजूदगी के बीच जबरदस्ती भरे कदम उठाए जा रहे हैं, लोगों को मौलिक अधिकारों से वंचित किया जा रहा है और एक खास विचारधारा को जबरन थोपा जा रहा है.’

महबूबा ने कहा कि मेल-मिलाप बढ़ाने और चर्चा करने से ही केवल लंबे समय के लिए शांति स्थापित की जा सकती है. उन्होंने कहा कि आप दर्द से कराह रहे किसी बीमार मरीज का मुंह बंद करके यह दावा नहीं कर सकते कि उसकी हालत स्थिर है. महबूबा ने प्रवासी पक्षियों की वजह से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाने वाले घराना वेटलैंड के मुद्दे को भी उठाया. उन्होंने कहा कि इसके विकास की सरकार की योजना से राज्य में पर्यटकों की संख्या में काफी इजाफा हो सकता है, लेकिन प्रशासन स्थानीय लोगों के मुद्दों की अनदेखी नहीं कर सकता है, उनकी जमीन का बड़ा हिस्सा इस प्रॉजेक्ट में जाने वाला है. प्रशासन को विरोध प्रदर्शन कर रहे ग्रामीणों के इसके बदले जमीन और नौकरी देना चाहिए.

 

Related posts

मध्य प्रदेश: खरगोन में फिर हुई पत्थरबाजी, SP बोले- होगी सख्त कार्रवाई

Such Tak

‘148 रन कैसे भूल सकते हैं’, रैना ने बताया किस नंबर पर करनी चाहिए धोनी को बैटिंग

Web1Tech Team

सुप्रीम कोर्ट में 5 नए जज लेंगे शपथ, ‘सुप्रीम’ फटकार के बाद केंद्र ने जारी की अधिसूचना, कौन हैं SC के 5 नए जज ?

Such Tak