08/02/2023
खोज खबर देश मनोरंजन राजस्थान

राजभवन में संविधान पार्क का लोकार्पण, सहरिया-कथौड़ी समुदाय से मिलीं राष्ट्रपति

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने मंगलवार को राजभवन में सहरिया एवं कथौड़ी जनजाति समुदाय के प्रतिनिधियों से मुलाकात के दौरान कम उम्र में बच्चों को विवाह नहीं करने की नसीहत दी और बालिकाओं की शिक्षा पर अधिक ध्यान देते हुए उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए आह्वान किया। इस दौरान राज्यपाल कलराज मिश्र और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी मौजूद रहे।

राष्ट्रपति मुर्मु ने कहा कि बेटियों को अधिक से अधिक पढ़ाने की जरूरत है। इसी से उन्हें जीवन में आगे बढ़ने के अवसर मिलेंगे। उन्होंने कहा कि आदिवासी समुदाय का जल-जंगल और जमीन को बचाने में महती योगदान है। उन्होंने आदिवासी समुदाय को मेहनत-मजदूरी करते हुए युवा पीढ़ी को श्रम से लगाव कर जीवन को संवारने के लिए प्रेरित करने का भी आह्वान किया।

संविधान निर्माण की यात्रा और भारतीय संस्कृति का कला रूप : राज्यपाल मिश्र

राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा कि हमारा संविधान भारतीय संस्कृति का जीवंत दर्शन है। संविधान के लेखन, इसे निर्मित करने के लिए बनाई गयी संविधान सभा, संविधान सभा की बैठकों, संविधान निर्माण में संलग्न रहे महापुरूषों की इसमें भूमिका और इसे लागू किए जाने की यात्रा बहुत अर्थपूर्ण है। संविधान उद्यान में इस यात्रा को विभिन्न मूर्तिशिल्पों, छाया-छवियों, मॉडल्स और अन्य कलात्मक माध्यमों के जरिए जीवंत करने का प्रयास किया गया है।

देश की पहली महिला राष्ट्रपति भी इसी राजभवन में राज्यपाल रही : मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि हमारे संविधान के निर्माण के साथ ही देश में महिलाओं सहित सभी नागरिकों को बराबरी के अधिकार दिए गए। यह भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर और संविधान सभा के सदस्यों की पवित्र सोच को दर्शाता है। यह बड़ा सौभाग्य है कि अमेरिका में आज महिला राष्ट्रपति नहीं बन सकी, लेकिन देश में दो महिला राष्ट्रपति बनीं है पहली महिला राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल इसी राजभवन में राज्यपाल रही।

Related posts

‘पायलट समर्थकों’ ने फेंके जूते, राजस्थान के मंत्री ने पायलट को दी चेतावनी, ‘अगर मैं लड़ने आया तो…’

Such Tak

जयपुर में बनेंगे चार बस स्टैंड, हजारों यात्रियों को मिलेगा लाभ

Such Tak

करौली हिंसा की भाजपा ने की न्यायिक जांच की मांग

Such Tak