08/02/2023
खोज खबर राजनीति राजस्थान

पहले राजस्थान BJP ने जनआक्रोश रैली स्थगित की, कोरोना संक्रमण का दिया हवाला, फिर पूनिया बोले- असमंजस हो गया था,अब नहीं होगी स्थगित

चीन में फैले कोरोना संक्रमण ने दुनियाभर को चिंता में डाल दिया है। इसी को देखते हुए राजस्थान में BJP ने गुरुवार दोपहर 3.04 बजे बड़ा फैसला लेते हुए जन आक्रोश रैली को स्थगित कर दिया। हालांकि ढाई घंटे बाद ही पार्टी ने फैसले को बदल दिया।

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने दोपहर 3.04 बजे ट्वीट करते हुए कहा- दुनिया में कोरोना फिर से अपने पैर पसार रहा है। ऐसे में हमने फिलहाल जन आक्रोश यात्रा को रोक दिया है। भविष्य में नई रणनीति के तहत फिर से कांग्रेस सरकार के कुशासन के खिलाफ बीजेपी लोगों के बीच जाकर उनकी आवाज को बुलंद करेगी। फिलहाल केंद्र सरकार के निर्देश की वजह से हमने यात्रा को स्थगित कर दिया है।

असमंजस हो गया था, अब नहीं होगी स्थगित
पूनिया ने फिर शाम 5.38 बजे वीडियो जारी कर कहा- फिलहाल केंद्र और राज्य सरकार की ओर से कोरोना को लेकर कोई गाइडलाइन जारी नहीं की गई है। ऐसे में यात्रा को स्थगित करने को लेकर कुछ असमंजस था। फिलहाल यात्रा को स्थगित नहीं करने का फैसला किया गया है। हमारी जन आक्रोश यात्रा जारी रहेंगी। हालांकि यात्रा के दौरान होने वाली सभाओं में कोरोना प्रोटोकॉल का ध्यान रखा जाएगा। वहीं यात्रा को तब तक स्थगित नहीं की जाएगी। जब तक केंद्र और राज्य की कोई गाइडलाइन जारी नहीं हो जाती।

इससे पहले बीजेपी के प्रदेश प्रभारी अरुण सिंह ने दोपहर 2 बजे दिल्ली में मीडिया से जन आक्रोश यात्रा को स्थगित करने की बात कही थी। नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने भी कार्यकर्ताओं को कोरोना से बचने की नसीहत देते हुए भीड़ इकट्‌ठा नहीं करने की बात कही।

केंद्रीय मंत्री भारत जोड़ो यात्रा पर उठा चुके सवाल
पिछले दिनों केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने राजस्थान में निकली भारत जोड़ो यात्रा में उमड़ी भीड़ को लेकर सवाल खड़े किए थे। उन्होंने कांग्रेस से कोरोना प्रोटोकॉल और गाइडलाइन की पालना करने की बात कही थी। इसके बाद से ही लगातार कांग्रेसी नेता भी बीजेपी की जन-आक्रोश यात्रा को लेकर सवाल खड़े कर रहे थे।

जेपी नड्डा ने की थी रथ यात्रा की शुरुआत
राजस्थान सरकार के खिलाफ 1 दिसंबर को जयपुर में आमसभा कर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने जन आक्रोश यात्रा की शुरुआत की थी। इसके बाद 3 दिसंबर को प्रदेश बीजेपी ने 200 विधानसभा क्षेत्रों में 51 रथ रवाना कर अभियान की शुरुआत की थी। वहीं 16 से 30 दिसंबर तक जन आक्रोश जनसभा का आयोजन किया जाना था। इसमें राजस्थान बीजेपी के नेताओं के साथ ही केंद्रीय मंत्री और संगठन से जुड़े नेता भी शामिल होने वाले थे। हालांकि अब यात्रा को स्थगित कर दिया गया है।

बीजेपी ने जनआक्रोश यात्रा को लेकर किया दावा

  • जन-आक्रोश यात्रा में 200 रथों से अब तक एक लाख 10 हजार 702 किलोमीटर से अधिक की यात्रा पूरी की थी।
  • यात्रा के दौरान अब तक 62 हजार 560 नुक्कड़ सभाएं, चौपाल और इतने ही स्थानों पर जन-सम्पर्क किया गया।
  • जन आक्रोश अभियान के तहत अब तक एक करोड़ से अधिक लोगों से सीधा संवाद और संपर्क किया जा चुका है।
  • अभियान में अब तक लोगों ने वेबसाइट पर 2 लाख 91 हजार 503 समस्याएं दर्ज कराई हैं।
  • जन सहयोग के तहत अब तक 30 लाख 89 हजार 903 मिस्ड कॉल मिली है।
  • अभियान के तहत अब तक 91 लाख 79 हजार 445 आरोप पत्र बांटे गए हैं।
  • जन-आक्रोश यात्रा में अब तक 14 लाख 51 हजार 545 समस्या पत्र इकट्‌ठे किए गए हैं।
  • तीन लाख शिकायतें वेबसाइट पर मिली है। इस आधार पर कुल 18 लाख शिकायतें बीजेपी ने दर्ज की है।

राजस्थान में कोरोना की स्थिति..

एयरपोर्ट पर कोविड जांच नहीं
राजस्थान में अभी कुआलालंपुर, बैंकॉक, दुबई, आबूधाबी, शारजाह और मस्कट से फ्लाइट्स आ रही है, लेकिन एयरपोर्ट पर विदेश से आने वाले यात्रियों की कोविड जांच नहीं की जा रही।

टीके नहीं लग रहे
कोविड पीक पर था तब वैक्सीनेशन के लिए लंबी-लंबी लाइनें लगी हुई थीं, लेकिन अब लोग टीका लगवा ही नहीं रहे। स्वास्थ्य निदेशालय के प्रोजेक्ट डायरेक्टर (टीकाकरण) डॉ. रघुराज सिंह के मुताबिक वैक्सीनेशन की साइट्‌स 5 हजार से घटकर 1200-1300 रह गई है। उन्होंने बताया कि लोग वैक्सीनेशन कम करवाने आ रहे हैं, जिसके कारण साइट्स बंद करनी पड़ी है। वैक्सीन की अभी कोई कमी नहीं है।

हेल्थ डिपार्टमेंट नहीं कर रहा रैंडम सैंपलिंग
हेल्थ डिपार्टमेंट के IDSP सैल के नोडल ऑफिसर डॉ. प्रवीण असवाल के मुताबिक राजस्थान में अभी हर रोज औसतन 3700 से 4000 टेस्टिंग हो रही है। ये टेस्टिंग उन लोगों की हो रही है, जिनको डॉक्टर जांच के लिए लिख रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से रैंडम सैंपलिंग अब नहीं की जा रही।

राजस्थान में अभी 52 एक्टिव मरीज
राजस्थान में पिछले 24 घंटे की रिपोर्ट देखें तो 5114 सैंपल की जांच में 5 सैंपल पॉजिटिव निकले हैं। इन पॉजिटिव मरीज के मिलने के बाद राजस्थान में एक्टिव मरीजों की संख्या 52 हो गई है। जिलेवार स्थिति देखें तो सबसे ज्यादा 45 एक्टिव मरीज जयपुर में है, जबकि सिरोही, उदयपुर में 2-2 और भीलवाड़ा, दौसा, पाली में एक-एक एक्टिव मरीज है।

5 करोड़ 8 लाख से ज्यादा लोगों का वैक्सीनेशन
मेडिकल हेल्थ डिपार्टमेंट के प्रोजेक्ट डायरेक्टर (टीकाकरण) डॉ. रघुराज सिंह ने बताया कि राजस्थान में अभी वैक्सीनेशन की स्थिति देखें तो 12 साल या उससे ज्यादा एजग्रुप के 5 करोड़ 8 लाख लोगों का वैक्सीनेशन पूरा हो चुका है। ये संख्या कुल टारेगट (चिह्नित किए व्यक्तियों) किए गए लोगों का 84 फीसदी है।

 

Related posts

हरियाणा बेरोजगारी के मामले में अब भी नंबर वन, राष्ट्रीय औसत से 4.5 गुना ज्यादा

Such Tak

कर्नाटक में बवाल LIVE:राज्य के मंत्री का आरोप- मुस्लिम गुंडों ने बजरंग दल कार्यकर्ता की हत्या की; शिवमोगा में उपद्रव, स्कूल-कॉलेज बंद

Such Tak

PUNJAB: अमरिंदर सिंह राजा पंजाब पीसीसी के अध्यक्ष नियुक्त, बाजवा विधायक दल के नेता बने

Such Tak