06/10/2022
खोज खबर देश राजनीति

जहालत एक किस्म की मौत है, शिवसेना नेता संजय राउत ने फिर बागियों पर बोला हमला : POLITICAL CRISIS

महाराष्ट्र में जारी सियासी संकट भले ही खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है लेकिन सियासी बयानबाजी तेज है। सुप्रीम कोर्ट ने बागियों को 11 जुलाई तक राहत दी है। इसी बीच शिवसेना नेता संजय राउत ने बागियों पर फिर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि जहालत एक किस्म की मौत है।

मुंबई: एकनाथ शिंदे के बागी होने के बाद सीएम उद्धव ठाकरे की कुर्सी पर खतरा मंडरा रहा है। सियासी लड़ाई सुप्रीम कोर्ट में चली गई है। कोर्ट ने डिप्टी स्पीकर द्वारा बागियों को दिए अयोग्यता के नोटिस पर 11 जुलाई तक रोक लगा दी है। इन सब के बीच शिवसेना नेता संजय राउत ने एक बार फिर बागियों पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि जहालत एक किस्म की मौत है।

शिवसेना नेता संजय राउत ने ट्वीट कर कहा कि जहालत एक किस्म की मौत है और जाहिल लोग चलती-फिरती लाशें हैं। महाराष्ट्र में चल रही सियासी लड़ाई के बीच आज का दिन कई मायनों में अहम है। दरअसल फ्लोर टेस्ट की मांग बागी विधायक लगातार कर रहे थे ऐसे में उसकी संभावना बढ़ गई है। दूसरी तरफ संजय राउत आज पत्रा चॉल जमीन घोटाले में पूछताछ के लिए ईडी की तरफ से समन दिया गया है।

हीं इससे पहले संजय राउत ने शिंदे गुट पर निशाना साधते हुए कहा था कि गुवाहाटी में मौजूद 40 विधायक मर चुके हैं। हालांकि बाद में राउत ने अपने बयान पर सफाई दी थी। उन्होंने कहा था कि उनके कहने का मतलब आत्मा के मरने से था।

महाराष्ट्र की सियासी लड़ाई सुप्रीम कोर्ट पहुंची, अयोग्य ठहराने के नोटिस पर शिंदे गुट की याचिका पर आज सुनवाई

ईडी का समन सोमवार को मिलने के बाद संजय राउत ने ट्वीट कर प्रतिक्रिया दी थी। उन्होंने कहा कि मुझे पता चला कि ईडी ने मुझे नोटिस भेजा है। महाराष्ट्र में बड़े घटनाक्रम हो रहे हैं। वे बोले कि हम बालासाहेब के शिवसैनिक है। भले ही मेरा सिर धड़ से अलग कर दो लेकिन मैं गुवाहाटी का रास्ता नहीं अपनाने वाला।

Related posts

खुले धार्मिक स्थलों के कपाट

Web1Tech Team

15 मिनट पैदल चलने के बाद राहुल ने वापस भेजा था, आराम के बाद फिर लौटीं:-भारत जोड़ो यात्रा में पहुंचीं सोनिया गांधी:

Such Tak

मंत्री मुरारीलाल का BJP-RSS पर आरोप:कहा: राम इनकी बापौती नहीं, इन्होंने करौली व दिल्ली में दंगे करवाए

Such Tak