08/02/2023
खोज खबर देश राजनीति

पंचतत्व में विलीन हुईं हीराबा, PM मोदी ने मां को दी मुखाग्नि, नहीं रहे महान फुटबॉलर पेले

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन का गांधीनगर में अंतिम संस्कार हुआ. पीएम मोदी ने अपनी मां को मुखाग्नि दी.

अंतिम संस्कार के दौरान परिवार के लोग मौजूद रहे. इससे पहले पीएम मोदी ने अपनी मां के पार्थिव शरीर को कंधा दिया.  पीएम मोदी की मां हीराबेन मोदी का शुक्रवार को निधन हो गया था. वे 99 साल की थीं. हीराबेन ने अहमदाबाद के यूएन मेहता अस्पताल में सुबह 3.30 बजे अंतिम सांस ली. अपनी मां के निधन पर पीएम मोदी ने श्रद्धांजलि देते हुए ट्वीट किया, “शानदार शताब्दी का ईश्वर चरणों में विराम. मां में मैंने हमेशा उस त्रिमूर्ति की अनुभूति की है, जिसमें एक तपस्वी की यात्रा, निष्काम कर्मयोगी का प्रतीक और मूल्यों के प्रति प्रतिबद्ध जीवन समाहित रहा है.”

मोदी की मां के निधन पर नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने हीराबेन को श्रद्धांजलि देते हुए ट्वीट किया, “प्रधानमंत्री मोदी जी की पूज्य माताजी हीरा बा के स्वर्गवास की सूचना अत्यंत दुःखद है. मां एक व्यक्ति के जीवन की पहली मित्र और गुरु होती है जिसे खोने का दुःख निःसंदेह संसार का सबसे बड़ा दुःख है.”

अंतिम सफर में पार्थिव देह के साथ शव वाहन में ही बैठे रहे

हीराबा मोदी का शुक्रवार तड़के 3:30 बजे यूएन मेहता अस्पताल में निधन हुआ। वे 100 साल की थीं। मंगलवार देर रात सांस लेने में तकलीफ होने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्हें कफ की शिकायत भी थी।

मोदी ने खुद ही निधन की जानकारी ट्वीट के जरिए दी। इसके बाद सुबह 7:45 बजे अहमदाबाद पहुंचे। यहां से वे सीधे गांधीनगर के रायसण गांव में भाई पंकज मोदी के घर गए। पार्थिव देह यहीं रखी गई थी। मोदी के पहुंचते ही अंतिम यात्रा शुरू हुई। सेक्टर-30 स्थित श्मशान घाट में अंतिम संस्कार किया गया।

मोदी ने अपना कोई तय कार्यक्रम रद्द नहीं किया। वे अंतिम संस्कार के बाद सीधे अहमदाबाद स्थित राजभवन गए। वे यहीं से बंगाल में हो रही राष्ट्रीय गंगा परिषद की बैठक में वर्चुअली जुड़ें। उन्होंने हावड़ा को न्यू जलपाईगुड़ी से जोड़ने वाली वंदे भारत की शुरुआत की।

अंतिम संस्कार के बाद सभी तय कार्यक्रमों में शामिल हुए मोदी

PMO ने ट्वीट कर जानकारी दी कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अंतिम संस्कार के बाद अपने सभी तय कार्यक्रमों में शामिल हुए। पहले प्रधानंमत्री को बंगाल दौरे पर जाना था। यहां स्वच्छ गंगा मिशन के प्रोजेक्ट के उद्घाटन के दौरान बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, बिहार के CM नीतीश कुमार के अलावा उत्तराखंड और झारखंड के मुख्यमंत्री भी मौजूद हैं। लेकिन मां के निधन के बाद मोदी वर्चुअली इस कार्यक्रम से जुड़े।

PM मोदी ने ट्वीट कर निधन की जानकारी दी, लिखा- शताब्दी का ईश्वर चरणों में विराम

PM मोदी ने ट्वीट कर हीराबा के निधन की जानकारी दी। शुक्रवार की सुबह 6 बजकर 2 मिनट पर उन्होंने लिखा- शानदार शताब्दी का ईश्वर चरणों में विराम। मां में मैंने हमेशा उस त्रिमूर्ति की अनुभूति की है, जिसमें एक तपस्वी की यात्रा, निष्काम कर्मयोगी का प्रतीक और मूल्यों के प्रति प्रतिबद्ध जीवन समाहित रहा है।

मोदी ने आगे लिखा- मैं जब उनसे 100वें जन्मदिन पर मिला तो उन्होंने एक बात कही थी, जो हमेशा याद रहती है कि काम करो बुद्धि से और जीवन जियो शुद्धि से। हीराबा ने जून में ही अपना 99वां जन्मदिन मनाया था। प्रधानमंत्री मोदी उस समय उनसे मिलने आए थे। उस दौरान PM ने हीराबा के पैर धोकर पानी अपनी आंखों से लगाया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को बीमार हीराबा को देखने अहमदाबाद पहुंचे थे। वे करीब एक घंटे 20 मिनट अस्पताल में रहे थे। इस दौरान उन्होंने डॉक्टरों से बातचीत करके मां की तबीयत और इलाज के बारे में जानकारी ली थी। अस्पताल में उनके साथ गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल और राज्य के कुछ अन्य मंत्री भी मौजूद थे।

2016 में भी बिगड़ी थी हीराबा की तबीयत
इससे पहले 2016 में भी हीराबा की तबीयत बिगड़ी थी। तब उन्हें एक सामान्य नागरिक की तरह 108 एंबुलेंस के जरिए गांधीनगर के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इतना ही नहीं सामान्य मरीजों की तरह ही हीराबा का अस्पताल के जनरल वार्ड में इलाज किया गया था।

मोदी इस साल 11 और 12 मार्च को दो दिनों के गुजरात दौरे पर थे। तब 11 मार्च को रात नौ बजे मां हीराबा से मिलने गांधीनगर पहुंचे थे। इस दौरान पीएम मोदी ने उनके साथ खिचड़ी खाई थी।

नहीं रहे महान फुटबॉलर पेले, 82 वर्ष की उम्र में ली अंतिम सांस

ब्राजील (Brazil) के महान फुटबॉलर और रिकॉर्ड तीन विश्वकप जीतने वाले पेले (Pele) का गुरुवार देर रात को निधन हो गया. वह 82 वर्ष के थे. सदी के सबसे महान फुटबॉलरों में शुमार पेले का 2021 से कैंसर का इलाज चल रहा था. वह कई बीमारियों के कारण पिछले महीने से अस्पताल में भर्ती थे.

Related posts

CM कुर्सी के लिए पॉलिटिकल ड्रामा फिर संभव, भारत जोड़ो से टकराएगी बीजेपी की रथ यात्रा: दिसंबर में फिर गर्माएगी राजस्थान की सियासत

Such Tak

ऑटो एक्सपो में हिमांशु जांगिड़ की बुक का कवर लॉन्च: ‘राजस्थान इन्वेस्टर्स कॉन्क्लेव’ में पांच स्टार्टअप फंडिंग पिचिंग के लिए सलेक्ट

Such Tak

युवक कांग्रेस का युवा कार्यकर्ता सम्मेलन अंता में सम्पन्न कांग्रेस कार्यकर्ता परिवार, सुख-दुख में हमेषा खडा हूं-भाया समाज सेवा करना ही जीवन का उद्वेष्य-उर्मिला जैन

Such Tak