08/02/2023
खोज खबर देश राजनीति विदेश

आखिर पाकिस्तान में ये सब क्या हो रहा है, क्या पाकिस्तान दिवालिया होने वाला है ?

प्लास्टिक के बड़े-बड़े थैलों में कूकिंग गैस जमा करते लोग. पुलिस में करीब 1600 वैकैंसी के लिए इस्लामाबाद के स्टेडियम में जमा 30,000 युवाओं की भीड़. शाम 8:30 बजे बाजार बंद करने का आदेश. रात 10 बजे बाद बंद करने होंगे शादी के हॉल. सभी सरकारी कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम. आखिर पाकिस्तान में ये सब क्या हो रहा है. क्यों पाकिस्तान अपने बाजार, मॉल और शादी हॉल जल्दी बंद कर रहा है? क्योंकि आर्थिक संकट से जूझ रहा पाकिस्तान हलकान है. क्या पाकिस्तान डिफॉल्ट कंट्री बनने वाला है, इसका मतलब क्या होता है? समझिए पूरा मामला…

कितने बड़े संकट में है पाकिस्तान ?

फिस्कल डेफिसिट (राजकोषीय घाटा) यानी खर्चे और कमाई के बीच का अंतर बहुत ज्यादा बढ़ गया है. जारी वित्तीय वर्ष (FY22-23) के शुरुआती 4 महीनों में पाकिस्तान का फिस्कल डेफिसिट 115% तक बढ़ गया. यानी कमाई से ज्यादा खर्चे हो रहे हैं. महंगाई दर लगातार 25% के आसपास बनी हुई है. पाकिस्तान के वित्त मंत्रालय ने कहा है ये अभी 21 से 23% के बीच बनी रहेगी.

पाकिस्तान के केंदीय बैंक में फॉरेन एक्सचेंज रिजर्व यानी विदेशी मुद्रा भंडार में सिर्फ 6 अरब डॉलर बचे हैं. जबकि पाकिस्तान को अगले कुछ महीनों में विदेशी कर्ज की मद में 30 से 32 अरब डॉलर की अदायगी करनी है. पाकिस्तान में युवाओं की बड़ी आबादी बेरोजगार है. पाकिस्तान इंस्टिट्यूट ऑफ डेवलपमेंट इकोनॉमिक्स के अनुसार पाकिस्तान में 31% युवा बेरोजगार हैं.

पाकिस्तान रेलवे के पास डीजल खरीदने के पैसे नहीं है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पाकिस्तान रेलवे के पास अब बस 3 दिन का तेल बचा हुआ है. लग रहा है जैसे पाकिस्तान दिवालिया होने की कगार पर है…

पाकिस्तान खुद को बचाने के लिए क्या कर रहा ?

पाकिस्तान की केंद्रीय कैबिनेट ने नेशनल एनर्जी एफिशिएंसी एंड कन्जर्वेशन प्लान को मंजूरी दी है. दावा है कि पाकिस्तान इससे ऊर्जा बचाएगा… पैसा बचाएगा… अपने आपको डूबने से बचाएगा… पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख्वाजा मोहम्मद आसिफ ने कहा कि-

“यह प्लान पाकिस्तान के लोगों की जीवन शैली और आदतों को बदल देगा और 60 अरब रुपये बचाएगा” ख्वाजा मोहम्मद आसिफ, रक्षा मंत्री..

बाजार, मॉल और शादी हॉल जल्दी बंद करने के आदेश इसी प्लान का हिस्सा हैं. इस प्लान में और क्या क्या हैं शॉर्ट में समझते हैं

कुछ महीनों बाद ज्यादा बिजली खपत करने वाले पंखों और फिलामेंट बल्ब का उत्पादन बंद कर दिया जाएगा.सभी सरकारी दफ्तरों में बिजली बचाने वाले उपकरण लगाये जाएंगे. देश में इलेक्ट्रॉनिक मोटरबाइक लाई जाएगी.एक साल के भीतर कोनिकल गीजर का उपयोग अनिवार्य किया जाएगा. देशभर की स्ट्रीट लाइलाइट्स बारी-बारी से चालू की जाएंगी,

क्या पाकिस्तान डिफॉल्ट होने वाला है?

पाकिस्तान को अगले कुछ महीनों में विदेशी कर्ज की मद में 30 अरब डॉलर की अदायगी करनी है. इसका समय नजदीक आते ही पाकिस्तान के डिफाल्ट होने की आशंका बढ़ रही है. हालांकि पाकिस्तान ने इन दावों को खारिज किया है. पाकिस्तान के वित्त मंत्री इसहाक डार ने कहा कि “आर्थिक दृष्टि से मुश्किल हालात जरूर हैं लेकिन पाकिस्तान के डिफाल्ट होने की कोई आशंका नहीं है”

आने वाले दिनों में पाकिस्तान को 30-32 अरब डॉलर की जरुरत है और उसके केन्द्रीय बैंक में फॉरेन एक्सचेंज रिजर्व में सिर्फ 6 अरब डॉलर हैं. जो पाकिस्तान ने अपने मित्र देशों _चीन, सऊदी सरब और अमेरिका_ से इस शर्त पर ले रखे हैं कि वो इन्हें खर्च नहीं करेगा. तो इसका डर तो है कि पाकिस्तान डिफॉल्ट हो सकता है?

अगर पाकिस्तान डिफ़ॉल्ट होता है तो इसका सीधा मतलब होगा कि उसके पास अपने कर्ज चुकाने के लिए डॉलर नहीं थे. साथ ही पाकिस्तान को कोई भी कर्ज नहीं देगा और न ही वो जरूरी चीजें जैसे पेट्रोल, गैस और सब्जियां आयात कर पाएगा. बिना ईंधन के पाकिस्तान के लिए बिजली बनाना मुश्किल होगा. बत्ती गुल हो जाएगी. उसके उद्योगों और अर्थव्यवस्था का पहिया रुक जाएगा.

पाकिस्तान का शटर डाउन, रात 8.30 बजे के बाद न दूध मिलेगा-न बिरयानी..

पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति नासाज बनी हुई है. यहां महंगाई दर लगातार 25% के आसपास चल रही है जबकि देश एनर्जी सेक्टर में लोन की बोझ के तले दबता जा रहा है. हालत यह है कि अब पाकिस्तान की सरकार ने देश के सभी मार्केट को रात 8.30 बजे ही बंद करने का फरमान जारी कर दिया है जबकि सभी मैरिज हॉल को भी रात 10 बजे बंद करना होगा.

पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ ने मंगलवार को घोषणा की कि वहां की केंद्रीय कैबिनेट ने नेशनल एनर्जी एफिशिएंसी एंड कन्जर्वेशन प्लान को मंजूरी दे दी है, जो ऊर्जा बचाने के उद्देश्य से एक नीति है. इसके तहत पाकिस्तान में अब बाजारों और शादी के हॉल के खुलने के समय को कम कर दिया गया है.

आज कैबिनेट की बैठक के बाद मीडिया को जानकारी देते हुए, आसिफ ने कहा कि पाकिस्तान भर में मैरिज हॉल रात 10 बजे और बाजारों को रात 8:30 बजे के बाद नहीं खोला जा सकेगा. उन्होंने दावा किया कि “यह प्लान पाकिस्तान के लोगों की जीवन शैली और आदतों को बदल देगी और हमें 60 अरब रुपये बचाएगी.”

पाकिस्तान में जून से नहीं बनेंगे पंखे

इसके अलावा रक्षा मंत्री आसिफ ने यह भी घोषणा की है कि

  • ज्यादा बिजली लेने वाले (120-130 W) पंखे बनाने वाली फैक्ट्रियों को 1 जुलाई से बंद कर दिया जाएगा.
  • “फिलामेंट बल्ब का उत्पादन 1 फरवरी से नहीं होगा,ऐसा करके हम 22 अरब रुपये बचा सकते हैं”
  • सभी सरकारी ऑफिसों में ऊर्जा दक्ष उपकरण लगाए जाएंगे
  • देश में इलेक्ट्रॉनिक मोटरबाइक लाई जाएंगी
  • “एक साल के भीतर कोनिकल गीजर का उपयोग अनिवार्य किया जाएगा,ये गीजर कम गैस का इस्तेमाल करते हैं और इस तरह हम 92 अरब रुपये बचाने में सक्षम होंगे.”
  • “देशभर की स्ट्रीट लाइटें बारी-बारी से चालू की जाएंगी,इससे 4 अरब रुपये बचाने में सक्षम होंगे.”

पाकिस्तान के पावर डिवीजन के हवाले से मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि पिछले साल सितंबर के अंत तक सर्कुलर कर्ज जो 2.253 ट्रिलियन रुपये था, वह अब 185 अरब रुपये की वृद्धि के साथ 2.437 ट्रिलियन रुपये तक पहुंच गया है.

 

Related posts

त्रिपुरा चुनाव: लेफ्ट, कांग्रेस को छोड़ TIPRA को ही क्याें टारगेट कर रही है BJP ?

Such Tak

हिजाब मामले पर सुप्रीम कोर्ट के जजों में भी मतभेद: बड़ी बेंच के पास जाएगा केस

Such Tak

कोविड अलर्ट के बाद स्वास्थ्य मंत्री बोले- देश में जरूरी पाबंदियां आज से, वायरस और खतरनाक हो रहा है

Such Tak