01/12/2022
खोज खबर राजनीति राजस्थान

Rajasthan : राजस्थान के बेरोजगारों के भविष्य को एक और बडा झटका

 राजस्थान में बेरोजगारों के भविष्य के साथ लगातार खिलवाड़ हो रहा है। आए दिन प्रतियोगिता परीक्षाओं में धांधली होने के कारण विभिन्न परीक्षाओं को रद्द करना पड़ रहा है। हाल ही में हुई राजस्थान हाई कोर्ट एलडीसी भर्ती परीक्षा में हुई धांधली को देखते हुए अदालत ने पूरी भर्ती प्रक्रिया को ही रद्द कर दिया है। इस संबंध में राजस्थान हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार ने शुक्रवार शाम को नोटिस जारी करते हुए भर्ती प्रक्रिया को रद्द किए जाने की जानकारी दी।

राजस्थान में इससे पहले भी राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा REET-2021 और पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षाएं पेपर लीक होने के कारण रद्द हो चुकी है। अब हाई कोर्ट एलडीसी की परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों को भी बड़ा झटका लगा है।

ओबीसी, EWS और SC का कट ऑफ जनरल से बहुत ज्यादा
हाईकोर्ट की ओर से गत वर्ष 1760 पदों के लिए विज्ञप्ति जारी की गई थी। इसी वर्ष 13 मार्च 2021 को लिखित परीक्षा का आयोजन हुआ और 18 मई को रिजल्ट घोषित हुआ। रिजल्ट में ओबीसी, ईडब्ल्यूएस और एससी की कट ऑफ जनरल से बहुत ज्यादा रही। जनरल की कट ऑफ 194 नंबर पर रही जबकि ओबीसी की कट ऑफ 224, EWS की कट ऑफ 230 और SC की कट ऑफ 200 और MBC की कट ऑफ 198 नम्बर रही थी। इस वजह से धांधली की पूरी आशंका हुई है।

राजस्थान जाट महासभा ने लिखा था हाईकोर्ट रजिस्ट्रार को पत्र
ओबीसी, ईडब्ल्यूएस, एससी और एमबीसी की कट ऑफ जनरल उससे कहीं ज्यादा जाने पर आरक्षित श्रेणी के हजारों अभ्यर्थी टाइपिंग टेस्ट से बाहर हो गए थे। राजस्थान जाट महासभा के अध्यक्ष राजाराम मील ने हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल को पत्र लिखा था। मील ने कहा कि जब अनारक्षित यानी सामान्य श्रेणी के अभ्यर्थियों को 194 अंक प्राप्त करने पर भी टाइपिंग टेस्ट के लिए आमंत्रित किया गया है, जबकि आरक्षित श्रेणियों के अभ्यर्थियों को टाइपिंग टेस्ट के लिए आमंत्रित नहीं किया गया। उन्होंने मांग की कि आरक्षित श्रेणी के अभ्यर्थियों को भी जनरल लेने के कट ऑफ के अनुसार टाइपिंग टेस्ट के लिए बुलाया जाए।

अब नए सिरे से विज्ञप्ति जारी करेगा हाईकोर्ट
राजस्थान हाई कोर्ट ने केवल एलडीसी भर्ती परीक्षा को ही रद्द नहीं किया बल्कि पूरी भर्ती प्रक्रिया को ही रद्द कर दिया। अब हाईकोर्ट की ओर से नए सिरे से भर्ती विज्ञप्ति जारी की जाएगी। इसके बाद अभ्यर्थियों को पुनः आवेदन करना होगा। पता चला है कि इस परीक्षा में दौसा में एक फर्जी अभ्यार्थी पकड़ा गया है।

Related posts

कैबिनेट विस्तार पर बीजेपी और शिंदे गुट में ऐसे बनी सहमति, जानें किसके के खाते में कौन-कौन से विभाग

Such Tak

नामांकन भरने के लिए सभी शर्ते करनी होगी पूरी,नहीं तो रद्द माना जाएगा पर्चा.पढ़िए क्या है पंचायत चुनाव के प्रत्यासियों के लिए शर्ते.

Web1Tech Team

सीटू का हमीरपुर में अपने कार्यलय के बाहर सरकार की जनविरोधी नीतियों का विरोध प्रदर्शन.

Web1Tech Team