08/02/2023
खोज खबर मौसम राजस्थान

रेगिस्तान में पहली बार जमी बर्फ, 10 डिग्री गिरा तापमान:12 जिलों में शीतलहर का अलर्ट

राजस्थान में सात दिन बाद एक बार फिर से ठंड ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। अचानक 10 डिग्री तापमान गिरा है। हालात ये है कि सीजन में पहली बार रेगिस्तान के धाेरों पर भी बर्फ जम गई है। वहीं, प्रदेश के तीन शहरों में तापमान माइनस में गया है।

हिल स्टेशन माउंट आबू, फतेहपुर, चूरू में आज न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस तक गिर गया। इससे पहले पारा यहां माइनस में चला गया। बीकानेर में भी तापमान जमाव बिंदू के नजदीक पहुंच गया। बीती रात चली तेज सर्द हवाओं से पूरा प्रदेश ठिठुर गया।

इधर, बीकानेर में तापमान 1 डिग्री तक पहुंचने के कारण इस सीजन में पहली बार वहां बर्फ जम गई है। मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक अब 20 जनवरी तक लोगों को कड़ाके की सर्दी का सितम झेलना पड़ेगा।

जयपुर मौसम केन्द्र से जारी रिपोर्ट देखें तो आज चूरू में न्यूनतम तापमान -0.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। यहां कल तक न्यूनतम तापमान 8.2 डिग्री सेल्सियस था। इसी तरह सीकर के फतेहपुर में भी टेम्परेचर 7.5 डिग्री सेल्सियस से लुढ़ककर -3.5 पर दर्ज हुआ। यहां खेतों में सिंचाई के लिए लगे पाइपों और खेतों की सुरक्षा के लिए लगे लोहे के जाल पर बर्फ जम गई। वहीं, मिट्‌टी पर भी ओंस की बूंदे जमी नजर आई।

फतेहपुर, चूरू के अलावा बीकानेर और उसके ग्रामीण इलाकों में भी बफीर्ली हवाओं के कारण पारा जमाव बिंदु के नजदीक पहुंच गया। बीकानेर में आज न्यूनतम तापमान 1.1 पर दर्ज हुआ। रेगिस्तानी क्षेत्र जैसलमेर में सर्दी का सितम बढ़ता जा रहा है। यहां बीती रात न्यूनतम तापमान 3.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ, जो इस विंटर सीजन का यहां का सबसे कम तापमान है।

इससे पहले कल दोपहर बाद से पूरे उत्तर-पूर्वी राजस्थान में शीत लहर का दौर शुरू हो गया। जयपुर, अजमेर, नागौर, सीकर, चूरू, गंगानगर, हनुमानगढ़, बीकानेर, जैसलमेर, दौसा समेत कई जिलों में कल दोपहर बाद तेज सर्द हवाएं चली, जिससे इन शहरों में रात का मिनिमम टेम्परेचर गिर गया।

माउंट आबू में एक सप्ताह बाद पारा माइनस में
माउंट आबू में 7 दिन तक पारा प्लस में रहने के बाद आज शनिवार को तापमान में सबसे बड़ी गिरावट हुई है। तापमान में -7 डिग्री की बड़ी गिरावट के साथ आज शनिवार को पारा -4 डिग्री पहुंचा है। शहर में 7 दिनों तक सर्दी से लोगों को राहत दी, लेकिन शनिवार से माइनस 4 डिग्री पारा पहुंचने पर सवेरे सुबह चारों ओर बर्फ की चादर नजर आई।

शहर में इस सीजन में 5 जनवरी को -6 डिग्री तापमान गिरने का रिकॉर्ड बना था। शहर में एकाएक सर्दी ने जोर पकड़ा है, तापमान में -4 डिग्री की बढ़ोतरी से सवेरे फूल-पत्तियों, गाड़ियों के कांच, बाइक की सीट, घास व फसलों पर रात में गिरी ओंस की बूंदे बर्फ में दिखी। सुबह तक वादियों में कोहरा छाया रहा। अधिकतम तापमान में 0.5 डिग्री की बढ़ोतरी से पारा 17 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ है।

पिछले साल जनवरी महीने में सारे रिकॉर्ड टूटे थे। जनवरी 2022 में महीने में 15 दिन पारा माइनस में और तीन बार पारा शून्य पर रहा था। गत वर्ष की 14 जनवरी को माउंट आबू का अधिकतम तापमान -5 डिग्री रिकॉर्ड हुआ था। वहीं, इस वर्ष 5 जनवरी को सबसे कम तापमान -6 डिग्री रिकॉर्ड हुआ।

अभी राहत नहीं
मौसम विभाग जयपुर के निदेशक राधेश्याम ने बताया कि हिल स्टेशन माउंट आबू में अभी 19 जनवरी तक सर्दी से फिलहाल कोई राहत नहीं मिलेगी। आगे न्यूनतम तापमान में एक से दो डिग्री की गिरावट दर्ज होती रहेगी। लगातार बर्फीली शीतलहर चल रही है, इसी वजह से सर्दी बढ़ी है। 19 जनवरी तक इसी तरह से तेज सर्दी रहेगी व पारा जमाव बिंदु और इससे कम रह सकता है।

मौसम केन्द्र जयपुर के निदेशक राधेश्याम शर्मा ने बताया कि अगले एक सप्ताह राजस्थान सर्दी का असर तेज रहेगा। मौसम विभाग ने 15 से 17 जनवरी तक 12 जिलों में तेज शीतलहर का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।

 

Related posts

कैबिनेट मंत्री प्रमोद जैन भाया ने किया महात्मा ज्योतिबा फूले की प्रतिमा का अनावरण

Such Tak

क्या इस्तीफों पर स्पीकर ने नियमों का पालन नहीं किया: 91 विधायकों ने नहीं किया था रिजाइन

Such Tak

बॉय स्कूल ग्राउंड बना लैला मजनू का अड्डा,सार्बजनिक स्थल पर रासलीला में मस्त.जिनके फोटो हो रहे वॉयरल

Web1Tech Team