08/02/2023
अपराध खोज खबर राजनीति राजस्थान

बालकनाथ बोले- DSP दलाल, पुलिस पर धब्बा है: विधायक के लिए कहा- मैं सामने आया तो बलजीत का हार्ट फेल न हो जाए, विरोध में राजनेताओं की बिगड़ती भाषा

निर्दलीय विधायक बलजीत यादव के थप्पड़ मारकर गाल लाल कर देने के बयान पर अलवर सांसद बालकनाथ ने पलटवार किया है। साथ ही उन्होंने बहरोड़ पुलिस उपाधीक्षक पर भी भ्रष्टाचार के आरोप लगाए।

जयपुर में मंगलवार को सांसद ने कहा- ‘बलजीत यादव को नींद नहीं आती। उसको सिर्फ मेरी चिंता है, वो परेशान है। आखिर क्या करूं इन बाबाजी का। उसे रात में मेरा भूत दिखता है। वह रात को उठकर देखता है, बाबाजी आ गए। कमजोर दिल का आदमी है। मुझे डर है कि कभी उसके सामने आ जाऊं और उसका हार्ट फेल हो जाए। मुझ पर दोष न आ जाए।’

राजस्थान पुलिस पर धब्बा, दलाल DSP
सांसद बालकनाथ ने बहरोड़ (अलवर) पुलिस उपाधीक्षक (DSP) आनंद राव की ओर से उन पर लगाए गए आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा- मुझ पर आरोप लगाने की डीएसपी की क्या हिम्मत है? वह खुद दलाल है। राजस्थान पुलिस पर धब्बा है। वह वसूली और गुंडागर्दी करता है। ऐसे DSP की तुरंत जांच हो। उसकी कुंडली की भी जांच हो। ताकि पता चले उसने कितनी संपत्तियां बना रखी हैं।

DSP ने नहीं उठाया IG-SP का फोन..
सांसद ने कहा- सिर्फ थाली बजने से बच्चे पैदा नहीं होते है। उन्होंने कहा कि DSP आनंद राव की कॉल डिटेल निकालनी चाहिए। घटना के दिन उन्होंने कितने ही फोन IG और SP ने किए। DSP ने उनके फोन तक नहीं उठाए। वह लगातार कान में ब्लूटूथ लगाकर विधायक बलजीत यादव के सम्पर्क में था।

जिन लोगों को पकड़ा, उन्हें लॉकअप में भी डाल दिया। DSP ने जो अधर्म और अन्याय किया है। उसका पश्चाताप उसे पूरे जीवन भर भुगतना पड़ेगा। अगर उसे लगता है कोई आरोपी है। तो न्यायिक जांच करे और प्रमाणित करे। कोई आरोपी होगा, तो कोर्ट के सामने पेश करे, कोर्ट उसका फैसला तय करेगा।

उन्होंने कहा- एक हॉस्पिटल में अपराधी ने आकर गैंगवार कर गए। निर्दोष लोगों को पैर में गोली लगी। अगर कहीं और गोली लगती। राजस्थान सरकार जनता को क्या जवाब देती। इतनी बड़ी घटना में तार किसी से जुड़ते हैं तो क्या पुलिस उसे छोड़ देगी। फिर अपराधियों के बहाने निर्दोष पार्टी कार्यकर्ताओं को पकड़ना बिल्कुल बर्दाश्त नहीं होगा।

जल जीवन मिशन में बड़ा भ्रष्टाचार..
सांसद बालकनाथ ने कहा- राजस्थान सरकार जल जीवन मिशन में बहुत बड़ा भ्रष्टाचार हो रहा है। इस योजना में लो-क्वालिटी का पाइप लगाया जा रहा है। उस पाइप से जहरीला पानी आएगा। प्लास्टिक की पॉलिथीन और केमिकल ड्रम को गलाकर उन पाइपों को बनाया जा रहा है। जब उन पाइपों से पानी के साथ मिलकर केमिकल जनता के गले और पेट में जाएगा तो कितना बड़ा नुकसान होगा। बोरिंग,पाइपलाइन और टंकी बनाने में बहुत बड़ा भ्रष्टाचार हो रहा है। जब इसकी जांच होगी, तो ये सरकार कटघरे में खड़ी हो जाएगी।

इस्तीफा दे राजस्थान सरकार..
सांसद ने कहा कि पूरी कांग्रेस सरकार को ही इस्तीफा दे देना चाहिए। क्योंकि इस सरकार ने राजस्थान जैसे शांतिपूर्ण प्रदेश को बर्बाद कर दिया। प्रदेश को अपमानित और बदनाम करने का काम किया है। अपराध, गोलीकांड, महिला अपराध, रेप की घटनाएं हो रही हैं। सरकार ने राजस्थान को लूट लिया है। भगवान करे इस कांग्रेस सरकार से राजस्थान को मुक्ति मिले। ऐसी मुक्ति मिले, सदा के लिए गंगा में इसका विसर्जन हो जाए। आगे बढ़ने से पहले खबर में नीचे दिए गए पोल में हिस्सा लेकर आप अपनी राय दे सकते हैं।

उन्होंने कहा- कांग्रेस सरकार युवाओं और किसानों को धोखा देकर सरकार सत्ता में बैठी है। निर्दलीय विधायकों के चक्कर में सरकार ने पूरे राजस्थान को बेच दिया है। पुलिस का काम भू-माफियाओं को अवैध कब्जा करवाने का रह गया है। कांग्रेस के लोग राजस्थान को लूटकर राहुल गांधी की तिजोरियां भर रहे हैं। उसकी यात्रा का डीजल कांग्रेस सरकार भरवा रही है।

ऐसे शुरू हुआ था घटनाक्रम

  • 6 जनवरी को हिस्ट्रीशीटर लादेन (विक्रम) पर जिला अस्पताल बहरोड़ में फायरिंग हुई थी। पुलिस मेडिकल चेकअप कराने लाई थी। वहां पहले से मौजूद बदमाशों ने लादेन पर फायरिंग कर दी थी। फायरिंग में लादेन बच गया था, लेकिन वहां इलाज कराने आईं इमरती देवी और भूतेरी देवी के पैरों में गोली लग गई थी।
  • इस मामले की जांच को लेकर 7 जनवरी की सुबह 8 बजे पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ता एडवोकेट राजाराम यादव, भाजपा कार्यकर्ता एडवोकेट हितेंद्र यादव, नूतन सैनी और निशांत यादव को हिरासत में ले लिया। पुलिस को शक था कि लादेन पर हुई फायरिंग में इनका कोई लिंक हो सकता है।
  • इसके बाद स्थानीय बीजेपी-कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ता थाने पहुंच गए। थाने के बाहर तनाव रहा। उस दौरान DSP पर सांसद ने गुस्सा जाहिर करते हुए धमकाया था कि विधायक के कहने पर निर्दोष लोगों को उठाया है। आगे उनकी सरकार आने वाली है। DSP को देख लेने की धमकी दी थी।
  • वहीं अब बहरोड़ विधायक बलजीत यादव भी इस पूरे विवाद में कूद गए हैं। विधायक यादव ने कहा कि सांसद साधु के वेश में भेड़िया है। बहरोड़ में DSP के साथ किए गए व्यवहार से पता चल गया। सांसद ने अगर दोबारा आकर वैसा ही किया तो उसे थप्पड़ मार-मारकर लाल कर दिया जाएगा।

बहरोड़ पुलिस ने इन चारों कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया था

6 जनवरी को हिस्ट्रीशीटर लादेन (विक्रम) पर फायरिंग हुई थी। पुलिस उसे जिला अस्पताल (बहरोड़) मेडिकल चेकअप के लिए ले गई थी। वहां पहले से मौजूद बदमाशों ने लादेन पर फायरिंग कर दी थी। फायरिंग में लादेन बच गया था, लेकिन वहां इलाज कराने आईं इमरती देवी एवं भूतेरी देवी के पैरों में गोली लग गई थी।

बहरोड़ पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार किया था। मामले की जांच को लेकर रविवार को सुबह 8 बजे कांग्रेस कार्यकर्ता एडवोकेट राजाराम यादव, भाजपा कार्यकर्ता एडवोकेट हितेन्द्र यादव, नूतन सैनी और निशांत यादव को हिरासत में ले लिया।

पुलिस ने दावा किया कि इनका कनेक्शन 6 जनवरी को जिला अस्पताल में हिस्ट्रीशीटर विक्रम उर्फ लादेन पर हुई फायरिंग की घटना से हो सकता है। जब स्थानीय बीजेपी-कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं को पुलिस कार्रवाई का पता लगा तो वे बहरोड़ थाने में पहुंच गए। थाने के बाहर माहौल रविवार सुबह से शाम तक तनाव भरा रहा।

कैसे हुआ पुलिस को इन नेताओं पर शक
डीएसपी आनंद राव ने बताया कि फायरिंग की वारदात से एक दिन पहले 5 जनवरी को बहरोड़ राजकीय कॉलेज में छात्रसंघ शपथ ग्रहण समारोह हुआ था। इसका आयोजन कांग्रेस कार्यकर्ता एडवोकेट राजाराम यादव और भाजपा कार्यकर्ता हितेन्द्र यादव ने किया था।

गांव जैनपुरबास निवासी हिस्ट्रीशीटर रहे जसराम गुर्जर का भाई रामफल गुर्जर काफिले के साथ कॉलेज पहुंचा था। वो मंच पर भाजपा जिलाध्यक्ष बलवान यादव सहित अतिथियों के साथ बैठा भी। इस कार्यक्रम के दूसरे ही दिन 6 जनवरी को विक्रम उर्फ लादेन पर हमला हो गया।

इस मामले में पुलिस ने एक आरोपी सचिन कुमार को हथियार के साथ गिरफ्तार किया था। शुरुआती जांच में सामने आया कि विक्रम की हत्या करने के लिए रामफल गुर्जर ने बदमाशों को भेजा, क्योंकि हिस्ट्रीशीटर लादेन पर हिस्ट्रीशीटर जसराम गुर्जर की हत्या करवाने का आरोप है।

लोकल नेताओं ने पुलिस पर लगाए तानाशाही के आरोप
भाजपा जिलाध्यक्ष बलवान यादव, कांग्रेस नेता बस्तीराम यादव, पूर्व प्रधान रोहिताश यादव, अलवर जिला प्रमुख बलबीर छिल्लर, युवा नेता मोहित यादव, कांग्रेस के विधानसभा प्रत्याशी रहे डॉ. आरसी यादव, पूर्व जिला पार्षद महेन्द्र यादव सहित बड़ी संख्या में कांग्रेसी और भाजपाई नेता- कार्यकर्ता थाने के बाहर नारेबाजी करते हुए जुट गए और सभी को रिहा करने की मांग की।

थाने के अंदर जब पुलिस अधिकारियों से वार्ता की जा रही थी, तभी डीएसपी आनंद राव और कांग्रेस नेता बस्तीराम यादव के बीच नोकझोंक हो गई। यहां भाजपाई और कांग्रेसी पुलिस अधिकारियों पर तानाशाही करने का आरोप लगाते दिखे।

हम आपको जाने नहीं देंगे
रविवार दोपहर करीब 2 बजे अलवर सांसद बहरोड़ थाने पहुंच गए। वहां उन्होंने डीएसपी आनंद राव को जमकर धमकाया। कहा- हमारी सरकार आने वाली है। उसके बाद हम आपको यहां से जाने नहीं देंगे।

SP ने कहा- प्रथम दृष्टया DSP की गलती सामने आई

डीएसपी से बहस के बाद सांसद बहरोड थाने में ही दोपहर 3.30 बजे से धरने पर बैठ गए। धरना शाम 6 बजे तक चला। बहरोड़ थाना भिवाड़ी एसपी के अधीन आता है। ऐसे में भिवाड़ी एसपी शांतनु कुमार भी 3.30 बजे बहरोड़ पहुंच गए। शांतनु कुमार ने हिरासत में लिए गए चारों कार्यकर्ताओं से बात की। उन्होंने कहा- प्रथम दृष्ट्या डीएसपी आनंद राव और बहरोड़ थाने के HM (हेड मोहर्रिर) भीम सिंह की गलती सामने आई है। दोनों अधिकारियों की जांच के लिए नीमराणा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक को जांच सौंपी गई है।

हिरासत में लिए हुए लोगों से भिवाड़ी पुलिस अधीक्षक ने लिखित में शिकायत ली। उन्होंने कहा कि आरोपों की जांच की जाएगी। एसपी शांतनु कुमार ने सांसद बालकनाथ और वहां मौजूद लोगों से कहा कि 5 दिन में रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई की जाएगी। डीएसपी को यहां से हटाना या रखना, मेरे हाथ में नहीं है। रिपोर्ट आने के बाद रिपोर्ट को पुलिस मुख्यालय भेजा जाएगा।

कौन हैं ये कार्यकर्ता जिनको लेकर इतना हंगामा हुआ

हितेंद्र यादव : एडवोकेट हितेन्द्र यादव पहले कांग्रेस पार्टी से विधायक, सांसद और बीस सूत्री कार्यक्रम उपाध्यक्ष रहे डॉ. करण सिंह यादव के कार्यकर्ता था। वकालत के साथ-साथ प्रॉपर्टी व्यवसाय से जुड़ा है। वर्तमान में सांसद बालकनाथ का कार्यकर्ता है। बहरोड़ के बाड्‌डी मोहल्ले का रहने वाला है। कांग्रेस कार्यकर्ता राजाराम यादव का घनिष्ठ दोस्त है।

राजाराम यादव : सांसद के गांव कोहराना का रहने वाला है। हितेन्द्र यादव का दोस्त है। भामाशाह है। सरकारी कॉलेज का गेट बनवाया था। कांग्रेस पार्टी से विधायक, सांसद और बीसूका उपाध्यक्ष रहे डॉ. करण सिंह यादव का कार्यकर्ता रहा। अब कांग्रेस कार्यकर्ता व प्रॉपर्टी का बिजनेसमैन है।

निशांत यादव: बहरोड़ के नैनसुख मोहल्ले का रहने वाला है। यह चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग में मेल नर्स के पद पर है। पहले यह बहरोड़ विधायक बलजीत यादव का कार्यकर्ता हुआ करता था। अब सांसद के विश्वसनीय समर्थकों में से एक है। यह सामाजिक कार्यकर्ता भी है।

नूतन सैनी: नूतन सैनी बहरोड़ कस्बे के सबलपुरा मोहल्ले का रहने वाला है। भाजपा की टिकट पर विधानसभा प्रत्याशी रहे मोहित यादव का कार्यकर्ता है। यह सरकारी कॉलेज का सचिव भी रह चुका है।

 

Related posts

खड़गे ने PM मोदी को रावण कहा: बोले- विधायक, सांसद, निगम चुनाव में आपकी सूरत देखी, क्या रावण की तरह 100 मुख हैं ?

Such Tak

महिलाओं को स्मार्ट फोन का मामला: विधायक ने पूछा क्या योजना निरस्त कर दी, मंत्री बोले, अभी योजना प्रक्रियाधीन

Such Tak

15 मिनट पैदल चलने के बाद राहुल ने वापस भेजा था, आराम के बाद फिर लौटीं:-भारत जोड़ो यात्रा में पहुंचीं सोनिया गांधी:

Such Tak