06/10/2022
राजस्थान

पंचायत चुनावों के आरक्षण रोस्टर में ‘बंदरबांट’, चहेतों को बांटी जा रही रेवड़ियां : निशांत

हमीरपुर /

युकां महासचिव निशांत शर्मा ने सरकार को लिया आड़े हाथ, सरकार की नीयत साफ नहीं

जिला हमीरपुर में पंचायत चुनावों को लेकर जारी आरक्षण रोस्टर को लेकर युवा कांग्रेस हमीरपुर के महासचिव निशांत शर्मा ने कहा है कि आरक्षण रोस्टर किसी भी नजरिए से सही नहीं है। इसे बंदरबांट की संज्ञा देते हुए उन्होंने कहा कि हद है कि लोकतंत्र की सबसे छोटी, लेकिन मजबूत इकाई में भी रेवड़ियां बांटी जा रही है। फिर भी सरकार को करारी शिकस्त इन चुनावों में मिलेगी तथा कांग्रेस पार्टी सरकार के हर हथकंडे का मुंहतोड़ जबाव देगी। यहां से जारी प्रेस बयान में निशांत शर्मा ने कहा कि सरकार की शुरू से ही नीयत साफ नहीं रही है। सत्ता में आने के बाद से ही प्रदेश सरकार अपने ही लोगों के दबाव में आकर फैसले ले रही है। यह ऐसी सरकार है, जिसका रिमोट कंट्रोल दूसरे हाथों में है। उन्होंने आरोप लगाया कि आरक्षण की जहां जरूरत नहीं थी, वहां भी अपनों के लिए आरक्षण जनता पर थोप दिया गया। इससे जनता में सही संदेश नहीं गया है तथा लोगों में भारी आक्रोश है। कई पंचायतें ऐसी है.

जहां आरक्षण रोस्टर से योग्य व इमानदार उम्मीदवारों को बाहर कर दिया गया। यह असल में प्रदेश सरकार की विफलताओं का फेस वन है, जिसमें डरी-सहमी सरकार ने आरक्षण रोस्टर को बिगाड़ा और अपने चहेतों की पंचायती निकाय में घुसपैठ करवाने व काबिल उम्मीदवारों को बाहर करने का कार्ड खेला, लेकिन सरकार के यह मनसूबे पूरे नहीं होंगे।

उन्होंने कहा कि सरकार हर मुद्दे पर फेल होकर लाचार हो चुकी है। अब सरकार की लाचारी उसके फैसलों से साफ झलक रही है। प्रदेश सरकार की न तो केंद्र में सुनवाई हो रही है और न ही प्रदेश में उनके अपने लोग मान रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह वही सरकार है, जोकि डबल इंजन से विकास करवाने का वायदा लेकर सत्ता में आई, लेकिन अब प्रदेश का अपना इंजन भी धुआं छोड़ रहा है।

Related posts

राजस्थान के गांवों में पीने को पानी नहीं:गुजरात-पाकिस्तान से सटे गांव, मिट्टी का पानी पी रहे हैं बच्चे

Such Tak

ग़रीबों, आर्थिक तौर पर पिछड़ों और जरूरतमंदों के कल्याण के लिये समर्पित है प्रदेश सरकार: विजय अग्निहोत्री

Web1Tech Team

16 IAS और 13 HAS अधिकारियो सहित 30 के तबादले.

Web1Tech Team