23/09/2022
राजस्थान

हम किस नाम के दे वोट,ज़ब हमारी पंचायत में नहीं हुआ कोई विकास का काम.ग्राम पंचायत चकमोह के बाशिंदों ने किया आगामी पंचायत चुनावों का बहिष्कार.

बड़सर /

हमीरपुर जिला के बड़सर उपमंडल की ग्राम पंचायत चकमोह के बाशिंदों ने आगामी पंचायत चुनावों का बहिष्कार करने का फैसला लिया है। ग्रामीणों का कहना है कि किसी भी सरकार ने उनकी अस्पताल की समस्या को दूर करने के लिए कोई कदम नहीं उठाया है.

पंचायत वासियों का कहना है कि उन्होंने क्षेत्र में कॉलेज ,स्कूल और अस्पताल के लिए कई कनाल भूमि बिना किसी शर्त के सरकार को दी थी परंतु किसी भी सरकार ने हमारी समस्या को नहीं समझा और आज भी हम स्वास्थ्य जैसी मूलभूत सुविधा से वंचित हैं। ग्रामीणों ने बताया कि 1980 में उन्होंने अपनी मलकीत भूमि से 15 कनाल भूमि अस्पताल के लिए दान में दी थी और उस में तत्कालीन मुख्यमंत्री शांता कुमार ने 100 बेड के अस्पताल का शिलान्यास रखा था लेकिन उसके बाद कई सरकारें आई व गई परंतु उन्हें अस्पताल की सुविधा आज तक नहीं मिल पाई है।

ऐसे में अब चकमोह पंचायत के लोगों ने पंचायत चुनाव का बहिष्कार करते हुए सभी के सभी सदस्यों ने चुनाव लड़ने से हटते हुए अपने नाम वापस ले लिए हैं । पंचायत में इस बार 8 लोगों ने प्रधान पद, 10 लोगों ने उपप्रधान के लिए तथा सारे वार्ड मेंबर ने विभिन्न वार्डों से आवेदन किया था परंतु ग्रामीणों ने अस्पताल नाम बनने से सभी के सभी उम्मीदवारों ने अपने नाम वापस ले लिए हैं । लोगों का कहना है कि जब तक सरकार हमारी मांगों को नहीं मानती है तब तक हम अपनी बात पर अडिग रहेंगे और भविष्य में किसी भी चुनाव में भाग नहीं लेंगे

Related posts

संयुक्त राष्ट्र प्रवक्ता ने कहा- सभी धर्मों का सम्मान करने का आह्वान करते हैं : उदयपुर हत्या

Such Tak

500 का नकली नोट एटीएम से मिला

Web1Tech Team

जिला परिषद एवं नगर परिषद, नगर पंचायतों में चुनाव लड़ने वाले कांग्रेस समर्थित उम्मीदवारों की घोषणा की.

Web1Tech Team