25/09/2022
धार्मिक राजनीति राजस्थान

प्रदेश के शहरों में 1ही गाय या भैंस पाल सकेंगे, लाइसेंस अनिवार्य

राजस्थान:  प्रदेश के 213 शहरों में अब एक ही गाय या भैंस पाली जा सकेगी। इसके लिए भी कम से कम 100 वर्गगज जमीन अलग तय कर निगम या पालिका से लाइसेंस लेना होगा। इसके लिए राज्य सरकार ने नए गोपालन नियम लागू कर दिए हैं। इसके तहत पशुमालिक को पाबंद किया गया है कि पड़ोस में रहने वालों को गोबर-मूत्र आदि से कोई परेशानी न हो। हर पशु के कान में टैग बांधना होगा, जिस पर मालिक का नाम, पता बमोबाइल नंबर लिखना होगा। पशु बाहर घूमता पाया गया तो 10 हजार रु. तक जुर्माना होगा। हर 10 दिन में पशु का मल शहर से बाहर ले जाकर डालना होगा। रास्ते या खुले स्थान पर पशु को बांधा नहीं जा सकेगा। पशुपालक कूड़ेदान में एकत्र गोवर आदि को हर 10 दिन में निगम या निकाय की सीमा से बाहर ले जाएगा, केंचुआ खाद बना सकेगा। लाइसेंस की शतों का उल्लंघन होने पर 1 माह के नोटिस पर लाइसेंस रद्द होगा, उसके बाद पशु नहीं पाल सकेंगे।

इन नियमो का करना होगा पालन –

• गाय या भैंस बांधने के स्थान का पशु घर के रूप में 1 हजार रुपए चुकाकर लाइसेंस लेना होगा।

• पशु लावारिस घूमता मिला तो प्रति पशु 500 रुपए परिवहन और 100 रुपए प्रतिदिन चारे के वसूले जाएंगे।

•लाइसेंसशुदा पशु के सड़क या बाहर मिलने पर पहली बार हजार और दूसरी बार 10 हजार जुर्माना लगेगा।
• शहरों में सार्वजनिक स्थान पर रिजका, चारा की बिक्री नहीं कर सकेंगे। बिना लाइसेंस चारा बेचने पर 500 रुपए जुर्माना लगेगा।
• हर साल 31 मार्च को लाइसेंसकी अवधि खत्म होगी, 1 अप्रैल को शुल्क देकर नया लाइसेंस लेना होगा।
• पशु घर 100 वर्गगज का रखने के साथ 200 वर्गफीट तक कवर करना, 250 वर्गफीट तक खुला रखना जरूरी होगा।
• पशुघर के ऊपर कोई मकान आदि रहवासी स्थान नहीं बना सकेंगे।
•कोई पशुपालक गाय या भैंस का दूध, दही, मक्खन आदि बेच नहीं सकेगा, स्वयं के उपयोग के लिए ही पशु रखेंगे।
• पशुघर में गड्ढा बनाकर गोवर-मूत्र आदि एकत्र करना होगा और गंदगी पाए जाने पर 5000 रुपए जुर्माना लगेगा।

Related posts

खान मंत्री प्रमोद भाया की भरत सिंह को सीधी सपाट भाषा में दो टूक

Such Tak

MNS की लाउडस्पीकर पॉलिटिक्स:सामना दफ्तर के बाहर लगाए पोस्टर, लिखा-क्या फिर से पलट दें संजय राउत की कार; राज ठाकरे ने शाह को लिखा पत्र

Such Tak

यूक्रेन ने मोदी से मांगी मदद, कहा- आपका रसूख है, रूस से बात करें; हमले में अब तक 9 नागरिकों की मौत

Such Tak