04/07/2022
राजस्थान हाडोती आँचल

चंबल हादसे की दर्दभरी कहानी:एक ही दिन थी 3 बहनों की शादी, लेकिन सबसे छोटी बहन के दूल्हे ने जान गंवा दी; मातम में बदली खुशियां

चंबल नदी में कार गिरने से दूल्हे समेत 9 लोगों की मौत हो गई है। इस दर्दनाक हादसे ने शादी वाले दो घर-परिवारों की खुशियां छीन लीं। चौथ का बरवाड़ा के रहने वाले अविनाश की शादी उज्जैन में होनी थी। रविवार को फेरे थे, लेकिन उससे पहले ही इतनी बड़ी अनहोनी हो गई। दुल्हन को अभी हादसे के बारे में कुछ नहीं बताया गया है।

उज्जैन के भैरू नाला इलाके की वाल्मीकि बस्ती में रहने वाले सुभाष के घर में तीन बेटियों की शादी के लिए मंडप सजा था। मंगल गीत गाए जा रहे थे। तीन-तीन बारातों के स्वागत की तैयारियां हो रही थीं कि तभी ये मनहूस खबर आ गई। अविनाश की शादी परिवार की सबसे छोटी बेटी से तय थी।

दुल्हन के चाचा संदीप क्लोसिया और अन्य रिश्तेदार घटना की सूचना के बाद कोटा पहुंचे। दूल्हे सहित 9 बारातियों की लाशें देखकर हर किसी का कलेजा कांप उठा। चाचा संदीप क्लोसिया ने बताया कि अविनाश और उनकी भतीजी जया उर्फ गौरी की 6 महीने पहले सगाई हुई थी। घर में एक ही दिन, एक ही मंडप में एक साथ तीन बहनों की शादी होनी थी। जया सबसे छोटी है और जुड़वां है। बाकी दो बारातें मध्यप्रदेश के टाल और श्योपुर से आ रही थीं। अब इतना बड़ा हादसा होने के बाद खुशियों के घर में मातम पसर गया। किसी को यकीन नहीं हो रहा।

बारात के स्वागत की तैयारियों में जुटे थे परिवार के लोग
लड़की के चाचा ने बताया कि परिवार के सभी लोग बारात के स्वागत की तैयारियों में जुटे हुए थे, लेकिन बारात की जगह हादसे की सूचना पहुंची। लड़की को तो यह बताने की हिम्मत ही नहीं है कि उसका होने वाला दूल्हा अब इस दुनिया में नहीं रहा।

Related posts

एक और कोरोना विस्फोट हमीरपुर में,एक दिन में 59 कोरोना पॉजटिव.

Web1Tech Team

Baran: अंता में भी बुल्डोजर चलेगा , रविवार की रोड की ली नाप

Such Tak

हमीरपुर नगर परिषद,वार्ड नम्बर एक से संगीता कटोच का दावा, बनाएंगे मोहल्ला कमेटी और चिकित्सालय।

Web1Tech Team