23/09/2022
राजनीति हाडोती आँचल

डायवर्जन चेनल के दूसरे फेज की घोशणा पर व्यापार महासंघ ने जताया राज्य सरकार का आभार पहले फेज का अवरोध भी शीघ्र निस्तारण की आशा

Pramod Bhaya

बारां 23 मार्च। तत्कालीन वसुंधराराजे सरकार द्वारा बारां शहर में लगातार बाढ की विभिषिका से हो रहे भारी नुकसान को देखते हुए 150 करोड की लागत से डायवर्जन चैनल की घोषणा कर उस पर 138 करोड रूपए व्यय करने के बाद भी न्यायिक अवरोध के कारण शहर के व्यापारियों, आमजन तथा कच्ची बस्तियों को हो रहे नुकसान को नही बचाया जा सका।

राज्य सरकार द्वारा सोमवार को अपने पूरक बजट में बारां शहर को बाढ की विभिषिका से बचाने के लिए डायवर्जन चैनल के दूसरे चरण की घोषणा कर 59 करोड रूपए का प्रावधान किए जाने पर व्यापार महासंघ ने राज्य के मुख्यमंत्री, खान एवं गोपालन मंत्री प्रमोद भाया तथा स्थानीय विधायक पानाचंद मेघवाल का आभार व्यक्त करते हुए संभावना जताई कि 29 मार्च को न्यायिक अवरोध की सुनवाई की तिथि पर इस समस्या का कोई हल निकलने के बाद शहरवासियों को इस वर्ष बाढ की विभिषिका से मुक्ति मिल सकेगी।
महासंघ अध्यक्ष ललितमोहन खण्डेलवाल, संरक्षक देवकीनंदन बंसल, सुदर्शन झाम्ब, सरोज कुमार जैन, माजिद सलीम, यश भानु जैन, कैलाश जैन, अशोक बत्रा, कमलेश विजयवर्गीय, वरिष्ठ उपाध्यक्ष नरेन्द्र बत्रा, उपाध्यक्ष कन्हैयालाल चित्तोडा, आसिफ मोहम्मद, अविनाश खण्डेलवाल, महामंत्री योगेश कुमरा, कपडा व्यापार संघ अध्यक्ष प्रदीप जैन, कोषाध्यक्ष जिनेन्द्र जैन सहित शहर के सभी व्यापार संगठनों ने मुख्यमंत्री की बजट घोषणा का स्वागत करते हुए बताया कि डायवर्जन चैनल के दूसरे फेज से अब बाणगंगा नदी पर माथनी गांव से खेडली भेडोलिया तक डायवर्जन चैनल का कार्य प्रारंभ होने से बाणगंगा नदी का पानी जो वापस शहर की ओर आता था, सीधा मांगरोल की ओर निकल जाएगा। दूसरे फेज की घोषणा में बाणगंगा की चैडाई को बढा कर शहर के निवासियों को बाढ से मुक्ति दिलाने का प्रयास किया गया हैं।
महासंघ पदाधिकारियों ने बताया कि प्रथम चरण में तत्कालीन सरकार द्वारा 150 करोड खर्च करने का प्रावधान किया गया था जिसमें 138 करोड खर्च किए जा चुके है लेकिन न्यायिक प्रक्रिया के दौरान 520 मीटर नाले का निर्माण शेष रह गया जिसके कारण शहर के व्यापारियों, आमजन तथा कच्ची बस्तियों को इसका लाभ नही मिल पाया। आगामी 29 मार्च को राजस्थान उच्च न्यायालय में सुनवाई के बाद संभावना है कि डायवर्जन चैनल का अवरोध समाप्त हो सकेगा जिसके बाद 520 मीटर कच्चे नाले का निर्माण कार्य पूर्ण होने पर शहरवासियों को प्रथम चरण के डायवर्जन चैनल का पूरा लाभ मिल सकेगा और शहर को बाढ की विभिषिका से बचाजा जा सकेगा।
महासंघ ने डायवर्जन चैनल के अथक प्रयास के लिए राज्य के खान गोपालन मंत्री प्रमोद जैन भाया, विधायक पानाचंद मेघवाल का आभार व्यक्त करते हुए राज्य सरकार द्वारा लिए गए बजट प्रस्ताव पर सरकार का आभार व्यक्त किया।

Related posts

राज्यसभा का घमासान :बेनीवाल की चंद्रा को वोट देने की घोषणा; आप का आरोप- 40 करोड़ में सौदेबाजी

Such Tak

नूपुर शर्मा की हत्या करने पाकिस्तान से आया एक युवक, राजस्थान में बॉर्डर पर BSF पकड़ा गया

Such Tak

कांग्रेस MLA जिग्नेश मेवानी गिरफ्तार:असम पुलिस ने पालनपुर सर्किट हाउस से किया अरेस्ट, आज उन्हें ट्रेन से गुवाहाटी ले जाया जाएगा

Such Tak