23/09/2022
धार्मिक राजस्थान हाडोती आँचल

BARAN: भाया दम्पत्ति ने किया श्री बड़ां बालाजी धाम गौशाला में श्री राधाकृष्ण मंदिर का शिलान्यास, रामनवमी पर्व की दी शुभकामनाएं

राज्य के खान एवं गोपालन मंत्री प्रमोद जैन भाया, जिला प्रमुख एवं श्री पार्श्वनाथ मानव सेवा चेरिटेबल ट्रस्ट की अध्यक्षा श्रीमती उर्मिला जैन भाया द्वारा रामनवमी पर्व पर श्री राधाकृष्ण मंदिर निर्माण का शिलान्यास करते हुए प्रदेश सहित जिलेवासियों को रामनवमी पर्व की शुभकामनाएं प्रेषित की।


श्री महावीर गौशाला कल्याण संस्थान द्वारा वर्षो से बारां जिले के मामोनी एवं जालेडा में गौशालाएं संचालित की जा रही है जिसमें बेसहारा, लाचार, निर्बल गौवंश की सार-संभाल की जाती है। इसी के साथ-साथ तीसरी गौशाला श्री बड़ां बालाजी धाम के सामने निर्मित नए गौशाला भवन में भी गायें रखकर गौशाला प्रांरभ की गई है।


मंत्री प्रमोद जैन भाया, श्रीमती उर्मिला जैन भाया ने बताया कि इस गौशाला परिसर में आज रामनवमी के पुनीत अवसर पर भगवान श्री राधाकृष्ण के बनने वाले मंदिर के लिए विधि विधान के साथ शुभ मुहूर्त में भूमि पूजन कर शिलान्यास किया गया। इसके उपरान्त गौवंश को अपने हाथों  से गुड, खल एवं हरा चारा खिलाते हुए उनकी सेवा की गई। श्री बड़ां बालाजी मंदिर में प्रतिदिन सैकडों की संख्या में श्रद्वालु दर्शन लाभ हेतु पहुंचते है। वर्तमान में पड रही तेज गर्मी को देखते हुए बड़ां बालाजी प्रवेश द्वार से बालाजी मंदिर परिसर तक भाया दम्पत्ति द्वारा मेट भेंट की गई ताकि श्रद्वालुओं के पैरों को तेज धूप की गर्मी के कारण होने वाली जलन से राहत मिल सके। इस दौरान अधिशाषी अभियंता अशोक सनाढय, कांट्रेक्टर अशोक शर्मा, शिल्पकार बाबूलाल सोमपुरा, गौशाला मैनेजर गोपीचंद सेन, हंसराज मीणा, पुजारी सुनील शर्मा, नारायण शर्मा आदि भी उपस्थित रहे। शिलान्यास उपरान्त प्रसाद वितरण किया गया।


भाया दम्पत्ति ने बताया कि इस गौशाला परिसर में पशु पक्षियों के लिए आधुनिक चिकित्सालय का निर्माण कार्य भी युद्वस्तर पर चल रहा है एवं चिकित्सालय परिसर का निर्माण वर्तमान में काफी पूर्ण हो चुका है। इस चिकित्सालय के बनने के बाद जिले में कहीं पर भी घायल, बीमार पशु पक्षियों का यहां पर निःशुल्क ईलाज संभव हो सकेगा। घायल पशु पक्षियों को लाने के लिए निशुल्क एम्बूलेन्स की व्यवस्था रहेगी तथा टाॅल फ्री नम्बर पर कोई भी फोन कर घायल पशु पक्षी के बारे में जानकारी दे सकेगा जिस पर संस्था का स्टाफ उसे चिकित्सालय में  लाकर बेहतर ईलाज उपलब्ध करवाएंगे। पशु पक्षियों के ईलाज के लिए मनुष्यों के ईलाज की भांति  आपरेशन थियेटर, एक्सरे मशीन सहित अत्याधुनिक मशीनें एवं चिकित्सकीय स्टाफ उपलब्ध रहेगा।

Related posts

डॉन देवा की रियल लाइफ का डरावना सच:कमाने वाला 1, खाने वाले 21; लाखों फॉलोअर्स पर परिजन बोले- हम रोज मर रहे

Such Tak

दिल्ली : जहांगीरपुरी हिंसा – साजिश या अचानक

Such Tak

जोधपुर में भगवा झंडा उतारने पर दो समुदायों के बीच तनाव, पत्थरबाजी में 4 पुलिसकर्मी घायल

Such Tak