08/02/2023
राजस्थान

संगमरमर से बन रही सबसे बड़ी चंबल माता की प्रतिमा, गायब हो जाएगा स्ट्रक्चर : राजस्थान में बन रही नंदी की सबसे बड़ी मूर्ति

राजस्थान में एक ही जगह पर ये पांच रिकॉर्ड बनने जा रहे हैं। यहां विष्णु के 10 अवतार के दर्शन भी होंगे। दरअसल, कोटा में चंबल किनारे 2.7 किलोमीटर का रिवर फ्रंट तैयार हो रहा है। इसका काम लगभग पूरा हो गया है |

1200 करोड़ रुपए में बन रहे इस रिवर फ्रंट के दोनों किनारों पर 26 घाटों का निर्माण करवाया गया है। इन घाटों को अलग-अलग थीम पर तैयार किया गया है। खास बात ये है कि इस रिवर फ्रंट से चंबल नदी के किनारे बसी बस्तियों को बाढ़ से राहत मिलेगी। साथ ही चंबल नदी में गिर रहे 14 गंदे नालों को ट्रैप कर नाले के पानी का ट्रीटमेंट किया जाएगा। इससे चंबल के पानी का भी साफ होगा।

रिवर फ्रंट के पश्चिमी जोन में 120 मीटर की लंबाई में जवाहर घाट का बनाया गया है। रिवर फ्रंट के काम में जुटे इंजीनियर मुकेश महावर ने बताया कि इस घाट पर पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू का फेस मास्क बनाया गया है। यह फेस मास्क 12 मीटर ऊंचा और 3 मीटर चौड़ा है। मेटल से बनाए जा रहे इस मास्क में पीछे की तरफ से लोग अंदर जा सकेंगे। आंखों तक पहुंचेंगे। वहां से रिवर फ्रंट का नजारा देख सकेंगे। इसके बिल्कुल सामने चंबल माता की मूर्ति होगी। इसके भी दर्शन नेहरू की आंखों से किए जा सकेंगे। इसे बनाने में 6 महीने का समय लगा है। 125 से ज्यादा मजदूरों ने इस पर काम किया |

पिता बाल काटते रहे, बोले- दुकान पर न टीवी न मोबाइल, कैसे देखता : पहली बार इंडिया के लिए खेले कुलदीप, विकेट लिए

 

Related posts

2023 रहेगा चुनावी वर्ष: अगली जनवरी तक 9 राज्यों में चुनाव, ज्यादा सिर्फ़ राजस्थान में

Such Tak

फिजिकल रिलेशन की डिमांड करने वाला प्रोफेसर सस्पेंड, मामले में SIT करेगी जांच: 3 घंटे यूनिवर्सिटी में हंगामा, मेन गेट तोड़कर अंदर घुसे, नहीं रोक पाई पुलिस

Such Tak

रैपिड एंटीजन टैस्ट में 15 लोग और निकले कोरोना पाॅजीटिव

Web1Tech Team